Breaking News


विश्व पर्यावरण दिवस पर बलिया में हुआ विविध आयोजन, किसी ने किया पौधरोपण तो कहीं संरक्षण की दिलायी शपथ



 पर्यावरण संरक्षण की अलख जगाने का निर्झर ने लिया संकल्प

रतसर (बलिया)। विश्व पर्यावरण दिवस पर प्रत्येक व्यक्ति को पृथ्वी और पर्यावरण संरक्षण के प्रति सक्रिय भूमिका निभाने के लिए प्रेरित करता है हम सभी को यह संकल्प लेना होगा कि प्राकृतिक संसाधनों का संतुलित प्रयोग किया जाए लेकिन पर्यावरण को कोई क्षति न पहुंचे। उक्त बाते जनऊबाबा साहित्यिक संस्था निर्झर के तत्वाधान में शुक्रवार को जनऊपुर गांव में पर्यावरण विद्‌ सुबेदार बब्बन पाण्डेय ने "समय और प्रकृति "पर निबन्ध प्रतियोगिता में सफल प्रतिभागियों को पुरस्कृत करते हुए कही। इस अवसर पर परशुराम युवा मंच के अध्यक्ष सक्षम पाण्डेय ने बताया कि देश के औद्योगीकरण व विकास के नाम पर पेड़ों की अंधाधुंध कटाई जारी है इसके सापेक्ष काफी कम पौधों का रोपण हो रहा है।

पर्यावरण पर इसका असर दिखने लगा है। मौसम में असमय परिवर्तन हो रहा है। जाड़े में तापमान तेजी से गिर रहा है वही गर्मी के दिनों में तापमान इतना बढ़ जा रहा है कि वर्दास्त करना मुश्किल हो जा रहा है वही बे मौसम बरसात व बाढ का सामना करना पड़ रहा है। पर्यावरण संरक्षण सहित कस्बे को हरा भरा बनाने का संकल्प ले चुकी इस संस्था ने क्षेत्र में एक हजार से अधिक फलदार पौधों का रोपण किया है जो अब बृक्ष के रूप में फल देने लगे है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए निबन्ध प्रतियोगिता में प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र देकर निर्झर के अध्यक्ष धनेश पाण्डेय ने सम्मानित किया। इस अवसर पर प्राथमिक विद्यालय के परिसर में पांच फलदार पौधों का रोपण भी किया गया एवं संस्था की तरफ से सभी को अपने जन्मदिन एवं अपने पूर्वजों के स्मृति में समय - समय पर पौधारोपण कराने के लिए संकल्प दिलाया गया। इस अवसर पर डा० मानवेन्द्र पाण्डेय, धनेश प्रजापति, मुकेश जी व्यास, योगेन्द्र पाण्डेय आदि मौजूद रहे।


विश्व पर्यावरण दिवस पर किया पौधरोपण संपन्न

रेवती (बलिया)। गोपाल जी स्नातकोत्तर महाविद्यालय में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर कालेज परिसर में आम, नीम, बरगद,पाकड़,पीपल आदि का वृक्ष महाविद्यालय के प्राचार्या द्वारा लगाकर कार्यक्रम की शुरुवात किया गया । प्राचार्या डाॅ साधना श्रीवास्तव ने पर्यावरण के महत्व एवं सार्थकता वृक्षो,उनके संरक्षण पर चर्चा करते हुए कहा कि वृक्ष हमारे जीवन का आधार है वृक्षो के बिना हम जीवन की कल्पना नही कर सकते । वृक्षों को काटने से पर्यावरण प्रदूषण बढ़ता है जिससे पारिस्थितिकी असंतुलन बढ़ जाता है जिससे प्राकृतिक आपदा बाढ़, सूखा, भूस्खलन, भूकम्प, ज्वालामुखी आदि की उत्पत्ति होती है ।इस अवसर पर महाविधालय के समस्त प्रवक्तागण व समस्त शिक्षणेत्तर कर्मचारियों कोविड 19 वैश्विक महामारी के सारे नियमो का पालन करते हुए महाविद्यालय परिसर में उपस्थित रहें।


बाल चित्रकारों ने दिया पर्यावरण संरक्षण का दिया संदेश

सिकन्दरपुर,बलिया। गंगोत्री विद्यालय के बाल चित्रकारों द्वारा पर्यावरण दिवस पर उम्दा चित्रकारी का प्रदर्शन किया गया। बच्चों ने रंगो के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया तथा इसकी जीवन में उपयोगिता को दर्शाया। बच्चों द्वारा प्राप्त उत्कृष्ट प्रविष्टियों को वर्गवार निम्न पाया गया।

वर्ग एक - कक्षा-6,7,8- (आराध्या गुप्ता, आयुष गुप्ता, विशाल गुप्ता, अभिषेक शर्मा, डिंपल यादव, अनुष्का श्रीवास्तव )। वर्ग दो- कक्षा-9 ( प्रिया भारद्वाज, अल्का, अन्नू यादव, आकांक्षा राय, शुभम गुप्ता ) कक्षा-10 ( मानसी उपाध्याय, खुशी यादव, सुधा गुप्ता, शमा परवीन, निशा शर्मा, निशू यादव,अमित गुप्ता, विपुल गुप्ता, सपना मिश्रा, जानवी मिश्रा)। वर्ग तीन- कक्षा-11- (उजाला, खुशी वर्मा, अर्पिता गुप्ता,अनीशा सोनी, रोहित वर्मा, आयुषी गुप्ता, सुनीता चौहान, प्रकृति, दिग्विजय सिंह, कहकसा एहसान )। कक्षा-12- ( रिद्धि तिवारी, सारिका यादव, अंकिता राय, मोहित वर्मा, सृष्टि गुप्ता, शाहीन परवीन, रुचि यादव, श्रेया गुप्ता, अंकिता वर्मा )। सभी को प्रबंधक डा.नरेंद्र प्रसाद गुप्ता ने शुभकामना दिया व उज्जवल भविष्य की कामना किया।


विश्व पर्यावरण दिवस पर प्राचार्य ने किया पौधरोपण

सिकन्दरपुर,बलिया। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर श्री बजरंग पी जी कॉलेज दादर आश्रम सिकंदरपुर बलिया के प्राचार्य डॉ उदय पासवान जी ने बड़े बाबू के साथ मिलकर महाविद्यालय परिसर में वृक्षारोपण किया।इस अवसर पर डॉ अशोक कुमार सहित हरेंद्र चौधरी,सत्येन्द्र तिवारी,मुन्ना शर्मा,कुबेर व छात्रों ने भी वृक्ष लगाए। इस अवसर पर प्राचार्य जी ने उपस्थित जनों को संबोधित करते हुए पर्यावरण का महत्व बताया और आज बरसात के विपरीत मौसम में आकर पर्यावरण के प्रति जागरूकता दर्शाने के लिए आभार व्यक्त किया।पुनः कोरॉना संकट के संदर्भ में स्वच्छ वातावरण और साफ सफाई को अपने दैनिक दिनचर्या में शामिल करने की सलाह डा अशोक कुमार ने सभी उपस्थित लोगों को दी।उक्त कार्यक्रम की जानकारी महाविद्यालय के सूचना एवम जन सम्पर्क अधिकारी डॉ. सच्चिदानन्द मिश्र ने दी।


पर्यावरण मानव जीवन का मूल आधार

दुबहर,बलिया। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर नेहरू युवा केंद्र बलिया के दिशा निर्देश पर जनपद के विभिन विकास खंडों में व केंद्र कार्यालय पर सामाजिक दूरी का पालन करते हुए पौधारोपण किया गया। इस मौके पर नेहरू युवा केंद्र के लेखाकार नवीन सिंह ने कहा कि प्राकृतिक संसाधनों के समाप्त होने से पारिस्थितिकी तंत्र में असंतुलन बढ़ रहा है। जिससे अनेक तरह की प्राकृतिक आपदाएं मानव का अस्तित्व मिटाने पर तुली है।

नमामि गंगे के जिला परियोजना अधिकारी सलभ उपाध्याय ने कहा कि पौधे मानव जीवन का मूल आधार है ,इनके बिना किसी भी समाज, सभ्यता की कल्पना नहीं की जा सकती है। जिस तरीके से पर्यावरणीय संपदा का दोहन हो रहा है ,यह भविष्य के लिए एक बहुत बड़ी समस्या को जन्म देगा। उन्होंने कहा कि केवल सरकार के भरोसे पौधरोपण के शत-प्रतिशत लक्ष्य को नहीं प्राप्त किया जा सकता है। इसके लिए सर्व समाज व जनमानस का सहयोग आवश्यक हैं। इस मौके पर उपस्थित लोगों से प्लास्टिक का प्रयोग ना करें तथा पर्यावरण संरक्षण के लिए शपथ दिलाई गई। इस मौके पर प्रमुख रूप से गुप्तेश्वर प्रसाद ,नंदिनी सिंह, सिमरन सिंह ,अनामिका विनोद चौरसिया आदि रहे।

रिपोर्ट- धनेश पांडेय, पुनीत केशरी, हेमंत राय, नितेश पाठक

No comments