Breaking News

औषधीय द्रव्यों में कोरोना जैसी विभिन्न बीमारियों का इलाज संभव : आयुर्वेदाचार्य विनोद उपाध्याय

 


मनियर, बलिया। कोरोना महामारी बीमारियों से बचाव के लिए आयुर्वेदाचार्य विनोद उपाध्याय ने अपना विचार दिया आयुर्वेदाचार्य विनोद उपाध्याय के अनुसार औषधीय द्रव्यों में कोरोना जैसी विभिन्न बीमारियों का इलाज संभव है ।कोरोना जैसी कई बीमारियां महामारी के रूप में प्राचीन काल से आ रही है जिसका आयुर्वेद के प्रचलन से बचाव किया गया । महामारी में साफ-सफाई ,नीम, फिटकरी, गेरु, आदि द्रव्यों द्वारा संक्रमण को रोककर उपचार किया जाता था। आयुर्वेद में प्रमुख रूप से फिटकरी, गंधक ,कालीमिर्च ,छोटी इलायची ,छोटा पीपल ,वंशलोचन ,जाफर, खबीर खैर, आदि द्रव्यों द्वारा संक्रमण काल में उपचार का उल्लेख है ।पहले से ही छुआछूत से दूरी बनाकर रोग से नियंत्रण का उपाय किया जाता रहा है। आज भी एलोपैथ में यह उपाय कर रोग पर नियंत्रण किया जा रहा है ।आयुर्वेद मानता है कि जिस प्रकार से मिट्टी के घड़ा में  समवायु कारण मिट्टी है उसी तरह सृष्टि में नव द्रव्य है ।पृथ्वी ,जल ,तेज ,वायु, आकाश ,काल ,विष,आत्मा और मन। जितने भी पैथ है सब का जड़ आयुर्वेद है। जिसका अध्ययन करके चिकित्सक जीवों को निरोग रखते हैं ।कुछ लोग अपना नीजी उत्पाद बेचने के लिए निम्न स्तर का बयान बाजी कर रहे हैं। आयुर्वेद यानी आयु का वेद है ।इसमें कोई संशय नहीं है यदि कोई भेदभाव करता है तो उसकी शैक्षिक योग्यता पर प्रश्नचिन्ह लग सकता है।


रिपोर्ट : राममिलन तिवारी

No comments