Breaking News

Akhand Bharat

राष्ट्रीय लोक अदालत हेतु बैंक प्रबंधकों की बैठक




बलिया। उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के निर्देशानुसार एवं माननीय जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बलिया श्री जितेन्द्र कुमार पाण्डेय के मार्गदर्शन में श्री हुसैन अहमद अंसारी अपर जनपद न्यायाधीश/नोडल अधिकारी की अध्यक्षता में एवं न्यायाधीश/सचिव, सर्वेश कुमार मिश्र के संचालन में दिनांक 18 जुलाई 2022 दिन सोमवार को समय 03ः30 बजे ए0डी0आर0 भवन दीवानी न्यायालय में जनपद के समस्त बैंक प्रबन्धकगण की बैठक, राष्ट्रीय लोक अदालत दिनांक   13 अगस्त 2022 को व्यापक रूप से सफल बनाने के उद्देश्य से की गयी। बैठक में दिनांक 13 अगस्त 2022 को आयोजित आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाये जाने हेतु विचार विमर्श किया गया तथा इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किये जाने हेतु चर्चा की गयी। श्री हुसैन अहमद अंसारी अपर जनपद न्यायाधीश/नोडल अधिकारी लोक अदालत एवं न्यायाधीश/सचिव, सर्वेश कुमार मिश्र द्वारा बैठक में उपस्थित समस्त बैंक प्रबंधकगण को निर्देशित किया गया कि वे आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत में एन0पी0ए0 एकाउंटस से संबंधित नोटिसों को शीघ्र-अति-शीघ्र कार्यालय, जिला विधिक सेवा  प्राधिकरण, बलिया को प्रेषित करें, जिससे की प्राप्त नोटिसों को समय से तामिला कराया जा सके तथा यह भी निर्देशित किया गया कि वह अपने क्षेत्रान्तर्गत आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत का व्यापक प्रचार-प्रसार, पम्पलेट, पोस्टर व बैनर आदि से, करना सुनिश्चित करें।


बैठक में श्री हुसैन अहमद अंसारी अपर जनपद न्यायाधीश/नोडल अधिकारी, सर्वेश कुमार मिश्र न्यायाधीश/सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बलिया, प्रबंधक लीड बैंक श्री राज कुमार पाण्डेय, भारतीय स्टेट बैंक के प्रबंधक श्री राकेश कुमार पाठक, पंजाब नेशनल बैंक के प्रबन्धक श्री शिव कुमार सिंह, इण्डियन बैंक के प्रबंधक श्री संजय कुमार, बैंक ऑफ इण्डिया के प्रबंधक श्री शैलेश कुमार गौतम, बैंक ऑफ बड़ौदा के प्रबंधक श्री पंकज कुमार, बड़ौदा यू0पी0 बैंक-। के प्रबंधक श्री सुमित कुमार, एवं भारतीय दूर संचार विभाग के    अधिकारी श्री जी0सी0 वर्मा उपस्थित रहे।


इसके साथ-ही जनपद बलिया के समस्त पैराविधिक स्वयं सेवकगण की एक आवश्यक बैठक आहूत की गयी, जिसमें सर्वेश कुमार मिश्र न्यायाधीश/सचिव, पैरालीगल वॉलिंटियर्स को निर्देशित किया गया कि वे आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत का व्यापक प्रचार-प्रसार जनसामान्य के मध्य पम्पलेट, पोस्टर व बैनर आदि के माध्यम से जागरूक करे। इस मामले में महिला पीएलबी की भूमिका ज्यादा अहम हो जाती है, उन्होंने बताया की जो लोग जागरूक हैं, उन्हें ही सरकारी योजनाओं का लाभ मिल पाता है। गांव की महिलाएं अपने मामले खुलकर नहीं बता पाती हैं, इस मामले में महिला पैरालीगल वालेंटियर उनके घर जाकर, महिलाओं से वार्तालाप कर उनकी समस्याओं का समाधान करा सकती हैं। बिना एक पैसा खर्चा किए ऐसे मामलों का निस्तारण संभव है, और इस मामले में किसी भी वकील की भूमिका नहीं होती है केवल एक सादे कागज पर एप्लीकेशन देकर के सीधे सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बलिया के कार्यालय में उपलब्ध करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि जहां भी कानून का उल्लंघन हो रहा है वहां पैरा लीगल वालंटियर की भूमिका अहम हो जाती है। उक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान रीता शर्मा पी0एल0वी0, मीरा यादव पी0एल0वी0, राजकुमार सिंह पी0एल0वी0, जयप्रकाश यती पी0एल0वी0, व अन्य पी0एल0वी0 उपस्थित रहें।


रिपोर्ट त्रयंबक पांडेय गांधी

No comments