Breaking News

बाहर से आए श्रमिकों को स्थानीय स्तर पर रोजगार दिलाने की पहल


तकनीकी क्षेत्र में निपुण श्रमिकों की अलग से तैयार होगी सूची

सभी बीडीओ, पंचायत सचिव व रोजगार सेवक को सर्वे की जिम्मेदारी


  • बलिया: जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान देश के विभिन्न महानगरों में कार्य करने वाले छह हजार से अधिक व्यक्तियों को स्थानीय स्तर पर रोजगार की व्यवस्था की जा रही है। इन छह हजार में से अधिकांश व्यक्ति दैनिक मजदूर या किसी कार्य विशेष में कुशल श्रमिक की श्रेणी में है। शासन की ओर से अभियान चलाकर इन श्रमिकों का चिन्हांकन करते हुए मनरेगा जॉब कार्ड जारी किए जाने के निर्देश हैं। 

उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को पत्र लिखकर कहा है कि जनपद में बाहर से आए सभी व्यक्तियों की ग्रामवार सूची सभी बीडीओ व स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम से लेकर जाब कार्ड बनवाना सुनिश्चित कराएं। इनमें तकनीकी क्षेत्र में निपुण या किसी विधा में कुशल श्रमिक जैसे मिस्त्री, राजमिस्त्री, बढ़ई, इलेक्ट्रीशियन, पेंटर, फिटर, प्लंबर आदि कार्यों में निपुण होंगे, निश्चित रूप वे मनरेगा जॉब कार्ड के अंतर्गत कार्य करने के इच्छुक नहीं होंगे। लेकिन जनपद में सरकारी विभागों के स्तर से कई ऐसे कार्य होते हैं, जिसमें ऐसे श्रमिकों की आवश्यकता होती है। फिलहाल अन्य जनपदों से आए मजदूर भी अपने यहां चले गये हैं। ऐसी दशा में इन्हीं कुशल श्रमिकों के माध्यम से कार्य कराया जा सकता है। इससे विकास कार्य भी प्रभावित नहीं होगा और स्थानीय स्तर पर लोगों को रोजगार भी मिलेगा। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि खंड विकास अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी और रोजगार सेवक के माध्यम से सर्वे कराकर अभियान चलाकर मनरेगा जॉबकार्ड जारी कराएं। साथ ही विशेष कार्य में निपुण व्यक्तियों की अलग से सूची तैयार की जाए।

पावर ग्रिड के जीएम ने दिया 200 मास्क व सेनेटाइजर

बलिया: पावर ग्रिड के जनरल मैनेजर डीके सिंह ने अपनी ओर से दो सौ मास्क और दो सौ सेनेटाइजर की बोतल जिला प्रशासन को दिया है उन्होंने मंगलवार की शाम जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही से मिलकर मास्क व सेनेटाइजर सौंपा। जिलाधिकारी ने भी इस सहयोग के लिए विशेष आभार जताया।



रिपोर्ट : धीरज सिंह

No comments