Breaking News

प्यार में मिला धोखा तो किशोरी ने की खुदकुशी की कोशिश



सुखपुरा(बलिया) : प्यार में धोखा खाने व प्रेमी पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाते हुये थाना सुखपुरा पर दिए गए तहरीर के बाद भी पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गयी।खिन्न किशोरी ने जहर खाकर अपने जीवन को ही दांव पर लगा दिया।आज भी वह जिला मुख्यालय के एक नर्सिंग होम में जीवन मृत्यु से संघर्ष कर रही है।सुखपुरा पुलिस किशोरी के तहरीर देने के 5 दिनों बाद भी कुंभकर्णी निद्रा में है।

थाना क्षेत्र के एक गांव की किशोरी ने पुलिस को दिए गए तहरीर में बताया है कि बगल के गांव का गैर बिरादरी का एक युवक शादी का झांसा देकर 4 वर्षों से मेरा शारीरिक शोषण करता रहा।जब मैंने इसकी जानकारी अपने घर वालों को दी तब घरवाले युवक के अभिभावक के पास शादी का प्रस्ताव लेकर गए लेकिन युवक एवं उसके परिवार वालों ने शादी के प्रस्ताव को खारिज कर दिया।किशोरी ने 23 जून को थाना सुखपुरा पर तहरीर दिया था।किशोरी के तहरीर देने के बाद पुलिस हरकत में आई और युवक को तत्काल हिरासत में ले लिया।फिर बाद में पुलिस क्यों सुस्त पड़ गयी यह समझ से परे है।किशोरी के तहरीर देने पर पुलिस कुछ कर नहीं पाई बल्कि पता नहीं क्यों दोनों पक्ष में समझौता कराने का प्रयास करती रही।

इस बीच किशोरी ने पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं होने पर 24 जून को जहर खा लिया।परिवार वाले उसे जिला अस्पताल ले गए जहां से वह जिला मुख्यालय के एक प्राइवेट नर्सिंग होम में भर्ती करा दिया।आज भी वह जीवन मृत्यु से संघर्ष कर रही है।इस बीच लगातार चार दिनों तक पुलिस हिरासत में बंद युवक के परिजनों से पुलिस मोल भाव करती रही और मुकदमा तक लिखना गंवारा नहीं समझा।

पुलिस अधीक्षक के हस्तक्षेप पर 26 जून को किशोरी के पिता को बुलाकर।थाना परिसर में बैठाया गया है।देखना है कि पुलिस अधीक्षक के हस्तक्षेप के बाद किशोरी के तहरीर पर ही मुकदमा पंजीकृत किया जा रहा है कि उसके पिता से दूसरा तहरीर लिखवाया जा रहा है।बहरहाल जो भी हो इस घटना में पुलिस की उदासीनता की चर्चा पूरे क्षेत्र में है।चर्चा है कि पुलिस किशोरी के तहरीर पर अगर सख्त कदम उठाती तो किशोरी जहर खाने को मजबूर नहीं होती।


रिपोर्ट - अनिल सिंह 

No comments