Breaking News

> > >

ईओ की आत्महत्या के बाद नपं कार्यालय ने ओढ़ी खामोशी की चादर


मनियर,बलिया। हमेशा चहल पहल रहने वाला नगर पंचायत कार्यलय ईओ मणि मंजरी राय की मौत के खामोशी की चादर ओढ़े हैं. घटना के चार दिन बीत जाने के बाद भी   कार्यालय परिसर में सन्नाटा पसरा रहा। पुलिस के पुछताछ के भय से एक्का दुक्का कर्मचारियों को छोड़ अधिकांश कर्मचारी कार्यालय से  गायब रहे.

गौरतलब हो कि नगर पंचायत कार्यालय मनियर पर तैनात अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय ने बीते सोमवार की रात  बलिया स्थित आवास विकास कालोनी में अपने आवास मे सुसाईट नोट लिखकर रस्सी के सहारे फाँसी लगाकर आत्म हत्या कर ली. इस घटना के सुचना मिलते ही सदर कोतवाल बलिया ने शव को कब्जे में ले मामले की जाँच पड़ताल  में जुटे इस उक्त  मामले में मृतका के भाई विजयानन्द की तहरीर पर नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता , कर लिपीक विनोद सिह , कमप्यूटर अपरेटर अखिलेश , पूर्व  ईओ संजय राव व चालक के विरूध नामजद व दो लोगों के विरूद्ध नामजद मुकदमा दर्ज कराया है। मुकदमा पंजीकृत होने के बाद पुलिस ने जब गुरूवार को आरोपियों के घर दबिश दी, लेकिन सारे आरोपी अपने घर से फ़रार मिले। इस घटना के छानबीन के सिलसिले में पुलिस ने नगर पंचायत कार्यालय में रखे दस्तावेजे के बारे में पुछताछ भी की. जिसके बारे संतोषजनक उतर न मिलने पर फटकार भी लगायी।



*भाजपा के राज में ईमानदार नेताओं की खैर नहीं : माले*

मनियर,बलिया: भाकपा माले ने शाहिद भगत सिंह पुस्तकालय चांदूपाकड़ में ईमानदार पीसीएस अधिकारी मणिमंजारी राय के सुसाइड किए जाने पर उनकी आत्मा को शांति हेतु दो मिनट का मौन धारण कर शोक व्यक्त किया गया. साथ ही भाकपा माले के नेताओं ने आरोप लगाया कि भाजपा शासनकाल में ईमानदार अधिकारी सुरक्षित नहीं है.

 नगर पंचायत मनियर के चुनाव हुए 3 साल हो गए उसके बाद विकास के नाम पर भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है अगर शुरू से ही भ्रष्टाचार की जांच हुई होती तो इतनी बड़ी घटना नहीं हुई होती इस शासनकाल में कहीं पुलिस मारे जा रहे हैं तू कहीं सत्ता के दबाव में ईमानदार अधिकारी अपना कार्य ठीक से नहीं कर पा रहे हैं अपराधियों एवं सत्ता के साथ गठजोड़ चल रहा है.

भाकपा माले के नेताओं ने निर्माणाधीन गौशाला परशुराम कुंड कूड़ेदान की गाड़ी पौधारोपण सड़क निर्माण विद्युत व्यवस्था आज सारे विकास कार्यों की जांच कराए जाने की मांग की अगर जांच नहीं होता है तो चेतावनी दी कि जनता को लेकर संघर्ष करने को बाध्य होगी नेताओं ने मणि मंजरी राय के परिजनों को ₹5000000 की आर्थिक मुआवजा एवं परिवार के एक सदस्य को नौकरी दिए जाने की भी मांग की. 

इस बैठक में भाकपा माले के सेंट्रल कमेटी के सदस्य कामरेड श्री राम चौधरी जिला सचिव लाल साहब असिस्ट राजभर मुन्नी सिंह भागवत बींद नियाज अहमद नागेंद्र कुमार कुंदन राधेश्याम फैयाज सहित इत्यादि लोग मौजूद थे.


रिपोर्ट राम मिलन तिवारी

No comments