Breaking News

युवकों ने पकड़ा मगरमच्छ जानें क्यो रोका वन विभाग को मगरमच्छ लें जानें से




बैरिया, बलिया । गंगापुर-सुरेमनपुर गांव के नौजवानों ने आधी रात में घाघरा के छाड़न से निकलकर खेतों में विचरण कर रहे चार मगरमच्छों में से एक मगरमच्छ को पकड़ लिया है।मगरमच्छ को देखने के लिए रात से ही काफी भीड़ जमा हो गई है,
बता दें कि बीते नव अगस्त को पहली बार बैरिया ब्लाक अंतर्गत हनुमानगंज बंधे के नीचे घाघरा के छाड़न में पशु चराने वालों ने छाड़न के किनारे चार मगरमच्छों को देखा था।गांव में दहशत फैल गई थी, इसकी सूचना वन विभाग को ग्रामीणों द्वारा दी गई, 13 अगस्त को वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची,वहां टीम के पहुंचने के पहले ही पड़ोसी गांव के वनरक्षक पवन तिवारी ने केवल एक मगरमच्छ को देखा था। जब वन अधिकारी पहुंचे तो वहां ग्रामीणों से यह कहे कि घाघरा के बाढ़ का पानी बढ़ने वाला है. तीन-चार दिन देख ले, पानी बढ़ जाएगा तो यह खुद ब खुद मुख्य नदी में चला जाएगा, हमारे पास जाल वगैरह नहीं है, अगर फिर भी मुख्य नदी में नहीं गया तो हम कोई व्यवस्था करेंगे, इधर शनिवार/रविवार की दरमियानी रात हनुमानगंज से लगभग 3 किलोमीटर दूर गंगापुर गांव स्थित आवादी वाले इलाके में ओमप्रकाश यादव के बगीचे व मक्के के खेत मे स्वयं किसान ने देखा फिर  एक महिला भी मगरमच्छ को देखी।हो-गल्ला सुन गांव के अनिल वर्मा,आकाश वर्मा,धीरज वर्मा,गौतम वर्मा,विपिन आदि युवकों ने बांस व बल्ली के सहारे किसी तरह मगरमच्छ को पकड़ लिया।मगरमच्छ पकड़ने वाले युवकों ने क्षेत्राधिकारी बैरिया को सूचना दिया,जिससे क्षेत्राधिकारी ने बन विभाग को सूचित किया,हलाकि पड़ोसी गांव के बन रक्षक पवन तिवारी हो-हल्ला सुनकर मौके पर पहुच गए।गांव के लोगों की माने तो टार्च की रोशनी में गंगापुर के आधा दर्जन उत्साही नौजवानों ने खेत को घेरने के लिए लगाई गई रस्सी से मगरमच्छ को घेरकर पकड़ लिया और बांधकर गांव में अनिल वर्मा के दरवाजे पर एक बृक्ष के सहारे मगरमच्छ को बांध दिए।ग्रामीणों की माने तो  अभी तीन और मगरमच्छ देखे गए है,जिससे ग्रामीणों में इस बात को लेकर भय का माहौल है।


बैरिया, बलिया । गंगापुर में मगरमच्छ पकड़ने वाले युवकों ने वन विभाग कर्मियों को पुरस्कार की मांग को लेकर मगरमच्छ ले जाने से रोक दिए थे।सूचना पर पहुचे उपजिलाधिकारी सुरेश कुमार पाल ने उत्साही युवकों से वार्ता किया,युवकों का कहना था कि एक बार श्रीनगर में मगरमच्छ पकड़ा गया था तो मगरमच्छ पकड़ने वालों को पुरस्कृत किया गया था,ऐसे में हमे भी पुरस्कार मिलना चाहिए।युवकों की मांग पर उपजिलाधिकारी ने उत्साही युवकों को लिखित आश्वासन दिया कि शासन को पत्र लिख कर स्थिति से अवगत करवाया जाएगा,साथ ही जो भी न्यायसंगत मांग हो उसे पूरा करने को कहा जायेगा।एसडीएम के आश्वासन के बाद उत्साही युवक मान गए और वन विभाग कर्मियों को मगरमच्छ ले जाने दिए।मौके पर पहुचे नगर पंचायत अध्यक्ष बैरिया प्रतिनिधि शिवकुमार वर्मा मनटन ने उत्साही युवकों को 12 हजार रुपये देकर पुरस्कृत किया।जबकि ग्राम प्रधान गंगापुर प्रतिनिधि दीनदयाल प्रसाद ने 5100 रुपये देकर पुरस्कृत किया।मौके पर पहुचे वन क्षेत्राधिकारी कौशल किशोर तिवारी,वन दरोगा रामजी यादव,वन रक्षक पवन तिवारी,अक्षय कुमार ने मगरमच्छ को लेजाकर मांझी स्थित सरयू नदी में छोड़ दिया।उक्त मौके पर एसएचओ संजय कुमार त्रिपाठी, चौकी इंचार्ज सुरेमनपुर मन्तोष सिंह,जिला पंचायत सदस्य योगेंद्र वर्मा के अलावे हजारों ग्रामीण उपस्थित रहे।



रिपोर्ट : वी चौबे

No comments