Breaking News

मनाई गई शहीद आर के यादव की पुण्यतिथि




दुबहड़, बलिया। वीर फौजी की मौत पर परिवार को दुःख कम गर्व अधिक होता है। ऐसे वीर सपूतों को जन्म देकर मां का कोख धन्य हो जाता है। उक्त उद्गार दुबहड़ ब्लॉक प्रमुख ज्ञानेंद्र राय गुड्डू ने स्थानीय दुबहड़ यादव डेरा निवासी उरी हमले में शहीद आरके यादव के चतुर्थ पुण्यतिथि पर शुक्रवार को व्यक्त किया। कहा कि शहीद आरके यादव की शहादत से परिवार सहित दुबहड़  गांव एवं क्षेत्र के लोगों का सीना गर्व से ऊंचा है। समाजसेवी राकेश सिंह ने कहा कि वह मां और गांव धन्य है जिसने आरके यादव जैसे वीर सपूत को जन्म दिया। प्रधान बिट्टू मिश्रा ने कहा कि मैं बलिया जनपद में गर्व महसूस करता हूं कि शहीद आरके यादव के गांव का प्रधान हूं। मैं गांव के सर्वांगीण विकास के लिए कोई भी कोर कसर नहीं छोडूंगा। ब्लाक प्रमुख ज्ञानेंद्र राय गुड्डू ने शहीद आरके यादव के गांव दुबहड़ के विकास के लिए यथासंभव योगदान देने का आश्वासन दिया। सर्वप्रथम शहीद आरके यादव के मूर्ति पर शहीद की पत्नी पार्वती देवी, मां सोमरिया देवी एवं परिजनों सहित  क्षेत्र के गणमान्य लोगों ने माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि देकर श्रद्धांजलि अर्पित किया। तत्पश्चात समाजसेवी राकेश सिंह ने शहीद की पत्नी, मां, भाई आदि को अंगवस्त्रम प्रदान कर सम्मानित किया। इस मौके पर ब्लाक प्रमुख ज्ञानेंद्र राय गुड्डू एवं दुबहड़ के वीडियो सचिन कुमार भारतीय ने एनएच 31 के बिसेनी डेरा मोड़ पर शहीद आरके यादव प्रवेश द्वार का फीता काटकर उद्घाटन किया।
 इस अवसर पर छात्र नेता अंकित सिंह, अरुण सिंह, गीतेश पांडेय, विक्रांत सिंह, इमरान अंसारी, गिरिजाशंकर यादव, किट्टू पांडेय, पंकज सिंह, बृकेश यादव, श्रीभगवान यादव, राजन सिंह, टिंकू यादव, अक्षय तिवारी, अक्षय वर्मा, अरुण राय आदि उपस्थित रहे।



रिपोर्ट : नितेश पाठक

No comments