Breaking News

> > >

जागरूक हों किसान, योजनाओं का लाभ लेकर करें आर्थिक उन्नति: जिलाधिकारी


— अपील, खेतों की मृदा कायम रखने के लिए पराली नहीं जलाएं


— किसानों की समस्याओं का हरसम्भव समाधान का दिया भरोसा


बलिया: जिलाधिकारी एसपी शाही की अध्यक्षता में जिला स्तरीय किसान जागरूकता गोष्ठी का आयोजन मंगलवार को कृषि भवन परिसर में हुआ। इसमें जिलाधिकारी ने किसानों के हित के चलाई जा रही लाभकारी योजनाओं के बारे में बताया। साथ ही हर योजना के प्रति जागरूक होने और उसका लाभ लेकर आर्थिक उन्नति की ओर अग्रसर होने पर बल दिया। 

इससे पहले गोष्ठी का शुभारंभ जिलाधिकारी ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। किसानों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि किसान चाहें तो पराली जलाने की घटना को शत-प्रतिशत रोका जा सकता है। खेतों की मृदा बचाने के लिए ऐसा करना ही होगा। ऐसा नहीं करें जिससे राजस्व व कृषि विभाग को कोई कार्रवाई करनी पड़े। किसानों की मांग पर जिलाधिकारी ने कहा कि ट्रैक्टर पर भी अनुदान की व्यवस्था के लिए प्रयास किया जाएगा। गोष्ठी में किसानों ने जो भी समस्याएं रखी है, उस पर गंभीरता से विचार होगा। फसल में रोग लगने की बात पर कहा कि इसके कारणों पर विचार विमर्श होगा। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में कुछ क्षेत्र में जलजमाव की समस्या गम्भीर जरूर है, पर समाधान के लिए हम सब जी—जान से लगे हैं। उन्होंने किसानों से विशेष अपील की कि अपने आसपास के कुओं, गड्ढों व तालाबों को जीवंत रखने के लिए आगे आएं। हालांकि इसके लिए सरकारी प्रयास जारी है लेकिन साथ में आप सबको भी रूचि लेनी होगी। खेती, किसानी व मानव जीवन के हित के लिए ये सभी प्राकृतिक स्रोत का जीवंत रहना अत्यंत आवश्यक है। जैविक खेती पर उन्होंने विशेष जोर देते हुए किसानों को अभियान चलाकर शुरूआत करने के लिए प्रेरित किया। कहा, रसायनिक खाद से होने वाले नुकसान को देखते हुए जैविक खेती की ओर लौटना ही होगा। अंत में उन्होंने कहा कि गोष्ठी या अन्य सोशल मीडिया पर बने ग्रुप के माध्यम से किसान अपनी बात एक-दूसरे से साझा करते रहें तो अनेक कृषि उपयोगी जानकरी सामने निकल कर आएगी और उसका लाभ किसानों को मिलेगा। गोष्ठी में उप निदेशक कृषि इंद्राज ने विभाग की हर लाभकारी योजना के बारे में विस्तार से बताया। जिला कृषि अधिकारी विकेश कुमार, कृषि प्रतिरक्षा अधिकारी प्रियनंदा, कृषि वैज्ञानिक गोपाल जी समेत सैकड़ों कृषक मौजूद थे। 


पराली जलाने की घटना पर सेटेलाइट से रखी जा रही नजर


किसानों से विशेष रूप से कहा कि पराली नहीं जलाएं, क्योकि अब सेटेलाइट से भी इस पर निगरानी रखी जा रही है। अगर किसान अपने खेत में पराली जलाएंगे तो उसकी रिपोर्ट मिल जाएगी और राजस्व व कृषि विभाग के माध्यम से जुर्माना व अन्य कार्रवाई की जाएगी। किसान संघ के प्रतिनिधि अखिलेश ने किसानों को राहत देने सम्बन्धी पत्रक सौंपा और कुछ खास समस्याओं से अवगत कराया। वह, उन प्रजातियों को चिन्हित करके विक्री से रोका जाए जिनमें भयंकर रोग लगने को समस्या सामने आ रही है। मक्के से बेल्ट में मक्का खरीद की भी व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए। जिलाधिकारी ने समस्याओं के हरसंभव समाधान का भरोसा दिलाया।



रिपोर्ट : धीरज सिंह


No comments