Breaking News

ग्राम प्रधान ने स्वयं सहायता समूह का गठन कर खाद्यान्न का कराया वितरण

रतसर (बलिया) बाल विकास पुष्टाहार द्वारा पहले बच्चों एवं गर्भवती / धात्री महिलाओं को पोषाहार दिया जाता था लेकिन अब नए नियम के अनुसार बच्चों में गर्भवती / धात्री महिलाओं एवं 11 वर्ष से 14 वर्ष तक स्कूल ना जाने वाली किशोरी एवं अति कुपोषित बच्चे को चावल एवं गेहूं का वितरण किया जाएगा,जिसमें स्वयं सहायता समूह एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के द्वारा यह वितरण होगा 3 वर्ष से 6 वर्ष के बच्चों को 1.5 किलो गेहूं 1 किलो चावल 6 माह से 3 वर्ष के बच्चे को 1.5 किलो गेहूं 1 किलो चावल,गर्भवती धात्री महिलाओं को 2 किलो गेहूं 1 किलो चावल,अति कुपोषित बच्चों को 2.5 किलो गेहूं 1.5 किलो चावल,11 वर्ष से 14 वर्ष तक स्कूल ना जाने वाली किशोरियों को 2 किलो गेहूं 1 किलो चावल का वितरण किया जाएगा। इसी क्रम में गुरुवार को रतसर कस्बा स्थित बिका भगत के पोखरे पर प्राथमिक विद्यालय के परिसर में आंगनबाड़ी कार्यकर्ती श्रीमती सुधा सिंह एवं सहायिका सुनीता सिंह, आंगनबाड़ी कार्यकर्ती पार्वती शर्मा एवं सहायिका निर्मला देवी तथा स्वयं सहायता समूह के पदाधिकारियों द्वारा खाद्यान्न का वितरण किया गया। इस मौके पर ग्राम प्रधान स्मृति सिंह उपस्थित रहकर सही तरीके से वितरण कराई। ग्राम प्रधान ने बताया इसके पहले इतने बड़े ग्राम सभा में एक भी स्वयं सहायता समूह का गठन नही हुआ था। आज ग्रामीणों की उपस्थिति में स्वयं समुह का गठन कराकर उनके द्वारा वितरण कराया गया साथ ही महिलाओं को स्वावलंबी बनने की प्रेरणा दी गई। इस बात को लेकर महिलाओं में हर्ष व्याप्त है।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments