Breaking News

> > >

अपर आयुक्त लखनऊ का पत्र बेमतलब

 


हल्दी, बलिया। अपर आयुक्त मनरेगा ग्राम्य विकास उत्तर प्रदेश द्वारा पांच जनवरी को पत्र जारी कर संयुक्त विकास आयुक्त आजमगढ़, जिलाधिकारी बलिया, मुख्य विकास अधिकारी समेत कई अधिकारियों को अवगत कराया था कि विकास खंड बेलहरी के रेपुरा ग्राम सभा में मनरेगा द्वारा कराए गए कार्यों का जांच होगा।लेकिन शाम तक कोई नहीं आया।जिसके कारण ग्रामीण मायूस हो गए।




अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार ने अपने पत्र में बताया था कि राज्यमंत्री ग्राम्य विकास के निर्देश पर विकास खंड बेलहरी के ग्राम सभा रेपुरा में वित्तीय वर्ष 2019-20 व 2020-21 में मनरेगा के तहत कराये गए कार्यों का जांच होगा।रविवार को युवा ग्राम विकास आंदोलन के दर्जनों युवा समेत सैकड़ों ग्रामीण अधिकारियों के आने की बांट जोहते रहे।लेकिन कोई अधिकारी गांव नहीं आया तो गांव के दर्जनों ग्रामीण जिला मुख्यालय स्थित मंत्री के चिउड़ा दही भोज में उनसे पूछने चले गए।वहां का नजारा देख सभी हतप्रद रह गए क्योंकि जिस ग्राम प्रधान का जांच होना था वह वहीं भोज उड़ा रहा।ग्रामीण जैसे ही मंत्री के तरफ लपके उनके बाड़ी गार्डों ने रोक दिया।हालांकि मंत्री ने गाड़ी में से ही कहा कि चिंता मत किजिये जांच होगा।उसके सभी ग्रामीण मुख्य विकास अधिकारी विपिन जैन  से मिलने पहुंच गए।उन्होंने ग्रामीणों को  बताया कि लखनऊ व आजमगढ़ की टीम आने वाली थी इसलिए मेरी जांच टीम नहीं गई।लेकिन भरोसा दिलाया कि जांच होगी।



रिपोर्ट सुशील द्विवेदी

No comments