Breaking News

Akhand Bharat

सीएचसी पर मरीज की मौत के बाद हंगामा, चिकित्सक से मारपीट


रतसर (बलिया) स्थानीय सामुदायिक स्वा० केन्द्र में शनिवार की रात गम्भीर बीमारी से पीड़ित आई महिला की मौत हो गई। मौत से गुस्साए परिजनों ने चिकित्सक एवं फार्मासिस्ट पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा खड़ा कर दिया और चिकित्सकों संग मारपीट कर इमरजेंसी रजिस्टर फाड़ दिए। सूचना पर गड़वार थाना से एसओ राजीव सिंह सहित भारी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंची और किसी तरह मामले को शांत कराया। चिकित्सकों का कहना है कि महिला को सांस लेने के साथ ही हार्ट में भी परेशानी थी। उसे प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल में रेफर कर दिया गया। गड़वार थाना क्षेत्र के बहादुरपुर कारी निवासी सत्यदेव पासवान की पत्नी पुष्पा देवी (43) को सांस की परेशानी और छाती में दर्द की शिकायत पर परिजन शनिवार की देर रात  मरीज को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर इलाज के लिए आए। उस समय इमरजेंसी ड्यूटी पर डा० अमित कुमार वर्मा एवं फार्मासिस्ट जितेन्द्र बहादुर सिंह तैनात थे। मरीज की हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने प्राथमिक इलाज के बाद तुरन्त जिला अस्पताल रेफर कर दिया। परिजन मरीज को लेकर जिला अस्पताल जा ही रहे थे कि बीच रास्ते में ही मौत हो गई। मौत होने के बाद परिजन शव को लेकर वापस अस्पताल लौट आए और दर्जनों की संख्या में पहुंच कर चिकित्सकों संग मारपीट करने लगे तथा वहां रखा इमरजेंसी रजिस्टर फाड़ दिए। किसी तरह से भागकर चिकित्सकों ने अपनी जान बचाई। तथा पुलिस को सूचना दी। मौके पर पर पहुंची पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों को मामले में उचित कानूनी कार्यवायी किए जाने का आश्वासन देते हुए परिजनों को शांत कराया और शव को अपने कब्जे में लेकर थाने चली आई और आवश्यक कार्यवायी करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए बलिया भेज दिया। दुसरी तरफ इस घटना को लेकर स्वास्थ्य कर्मियों में गहरा रोष है। इस मामले में घायल फार्मासिस्ट जितेन्द्र बहादुर सिंह ने मृतका के परिजनों सहित दर्जन भर लोगों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने, मारपीट करने और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए पुलिस को लिखित तहरीर दी है। इस सम्बन्ध में एसओ गड़वार राजीव सिंह ने बताया कि फार्मासिस्ट द्वारा तहरीर मिली है। मामले की जांच कर कानूनी कार्यवायी सुनिश्चित की जाएगी।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments