Breaking News

Akhand Bharat

स्थानान्तरण नीति के विरुद्ध चिकित्सा कर्मियों ने किया दो घंटे का बहिष्कार, की नारेबाजी



रतसर (बलिया) स्थानान्तरण नीति के विरोध में चिकित्सा महासंघ के आह्वान पर कर्मचारियों ने शनिवार को आठ बजे से 10 बजे तक कार्य बहिष्कार कर स्थानीय सीएचसी परिसर में स्थानान्तरण नीति के विरोध में प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने शुक्रवार से ही कार्य बहिष्कार का आह्वान किया है। इसके बाद कर्मचारी 12 जुलाई को महानिदेशालय का घेराव करेगें। चीफ फार्मासिस्ट अरुण कुमार शर्मा ने सरकार की दोहरी स्थानान्तरण नीति का विरोध करते हुए कहा कि कोरोना की दुसरी लहर अभी जारी है और तीसरी लहर की आशंका है ऐसे में स्वास्थ्य कर्मियों को सम्मानित किया जाना चाहिए लेकिन सरकार स्थानान्तरण नीति के जरिए उन्हें दण्डित कर रही है। राष्ट्रीय कुष्ठ कर्मचारी परिषद के जिला कोषाध्यक्ष धनेश पाण्डेय ने कहा कि कोविड काल में स्वास्थ्य विभाग के कई कर्मचारियों की मौत हुई है। कर्मचारियों की सुरक्षा पर ध्यान नही दिया जा रहा है और जबरन तबादला किया जा रहा है। अन्य प्रदेशों में स्वास्थ्य कर्मियों को एक-एक महीने का वेतन दिया गया लेकिन यहां अब तक मूल वेतन का 25 प्रतिशत प्रोत्साहन राशि का भुगतान नही किया गया। इस अवसर पर डा० राकिफ अख्तर, डा०अमित वर्मा, सत्येन्द्र पाण्डेय, आशुतोष सिंह,एस.एन. त्रिपाठी, सुमन्त यादव, गिरीश सिंह, गुंजा सिंह, शिवम सिंह, विनय राय, पंचमी राम, चन्दन,अवधेश यादव, लल्लन आदि मौजूद रहे।



रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments