Breaking News

Akhand Bharat

खंड शिक्षा अधिकारी की गाड़ी चलाना पड़ा भारी, हेडमास्टर व सहायक अध्यापक निलंबित




वाराणसी: जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राकेश सिंह ने बुधवार को बड़ागांव क्षेत्र के विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान 10 शिक्षक व हेडमास्टर विद्यालय से गैरहाजिर मिले। खास बात यह है कि पूर्व माध्यमिक विद्यालय के एक हेडमास्टर मौके पर खंड शिक्षा अधिकारी की गाड़ी चलाते मिले। यह कोई इत्तफाक नहीं था, बल्कि गुरुजी कई दिनों से बीईओ के ड्राइवर बने हुए थे। इस बाबत बीएसए ने जब बीईओ से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि सिर्फ आज के लिए ही हेडमास्टर उनकी गाड़ी चला रहे थे। जिसके बाद बीएसए ने उन्हें निलंबित कर दिया.

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के निरीक्षण में कई विद्यालयों में अनियमितता पाई गई। कई विद्यालयों में शिक्षक समय से नहीं पहुंचे थे। तो कई में गंदगी और अव्यवस्था की भरमार मिली। शैक्षिक वातावरण काफी खराब था। न तो टीएलएम बने थे और न ही कक्षाओं का संचालन ठीक तरह से हो रहा था। बीएसए पूर्व माध्यमिक विद्यालय लठिया नरेमा पहुंचे तो हेडमास्टर भरत सिंह सरोज अनुपस्थित मिले। अध्यापकों ने बताया कि वह बीईओ बड़ागांव की गाड़ी चलाते हैं। निरीक्षण में पाया गया कि हेडमास्टर न तो विद्यालय आते हैं न ही शैक्षिक गतिविधियों में हिस्सा लेते हैं।

सहायक अध्यापक भी निलंबित
निरीक्षण में पता चला कि हेडमास्टर ने अपना चार्ज नियमों के खिलाफ सहायक अध्यापक महेंद्र कुमार को दे रखा है। हालांकि, सहायक अध्यापक अध्यापकों व कर्मचारियों का अवकाश, लॉग बुक एवं अन्य अभिलेख अंकित नहीं कर रहे हैं। वहीं, इस मामले में जब अन्य शिक्षकों से पूछा गया तो उन्होंने गुमराह करने की कोशिश की। इस पर बीएसए ने सहायक अध्यापक को भी निलंबित कर दिया। वहीं, दोनों मामले की जांच के लिए बीईओ चोलापुर, दशाश्वमेध व चिरईगांव की टीम गठित कर दी गई है।


डेस्क

No comments