Breaking News

Akhand Bharat

आयुष्मान कार्ड ने दी गरीबों के आंखों को रोशनी पथरी निकाल पेट दर्द से भी दिलाया छुटकारा

 

आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को मिला आयुष्मान कार्ड, बना वरदान

आयुष्मान योजना से 9605 लाभार्थियों को मिला लाभ

बलिया, 15 दिसम्बर  2021

अंत्योदय कार्ड धारकों का अब आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का गोल्डन कार्ड बनाया जा रहा है। यह कहना है अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी/ आयुष्मान भारत के नोडल अधिकारी डॉ० विजय यादव का।  

डॉ० विजय ने बताया कि आयुष्मान भारत - प्रधानमंत्री जन-आरोग्य योजना सरकार की महत्वपूर्ण स्वास्थ्य योजना है। इसे 23 सितंबर 2018 को शुरू किया गया था। इस योजना का उद्देश्य जनपद के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को निःशुल्क उपचार प्रदान करना है। योजना के तहत सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 के अनुसार चिन्हित लाभार्थी परिवार को प्रति वर्ष प्रति परिवार पांच लाख रुपये के इलाज की सुविधा निःशुल्क दी जा रही है। इसके तहत जिले में आयुष्मान कार्ड धारकों को लाभ दिया जा रहा है। योजना के तहत सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 की सूची के अनुसार केंद्र सरकार से पात्र लाभार्थियों का चयन किया गया है। अंत्योदय कार्ड धारकों का आयुष्मान कार्ड बनाया जा रहा है।

क्या कहा लाभार्थियो ने :-

1- श्रीमती मैमुननिशा निवासी सहतवार ने बताया कि आर्थिक स्थिति खराब होना होने के कारण पथरी का आपरेशन नहीं करवा प रही थी। जब आयुष्मान कार्ड बनकर आया तब महाबीर अस्पताल में पथर्यका आपरेशन करवाया। यह कार्ड किसी वरदान से कम नहीं है हम जैसे गरीब लोगों के लिए। 

2- श्रीमती सुगी देवी निवासी सरसपाली गोपालपुर ने बताया कि यह कार्ड गरीबों के लिए वरदान साबित हो रहा है। आयुष्मान कार्ड अगर मेरा नहीं बना होता तो मेरे आँख का आपरेशन नहीं हो पाता।

3- श्रीमती प्रभावती देवी निवासी जमुआ ने बताया कि जब मुझे पता चला कि  आयुष्मान कार्ड के जरिये इसका निःशुल्क इलाज करवाया जा सकता है तो उन्होंने आयुष्मान कार्ड के जरिये शांति देवी नेत्र अस्पताल  बलिया में निःशुल्क उपचार करवाया। हमारे आँखों की रोशनी पुनः वापस लौट आयी। अब मैं पूरी तरह से स्वस्थ हूँ और प्रधानमंत्री की इस योजना को धन्यवाद देती हूँ। 

 

आयुष्मान भारत योजना के जिला कार्यक्रम समन्वक (डीपीसी) डॉ चंद्रशेखर सिंह ने बताया कि योजना के तहत  राजकीय और निजी अस्पतालों को मिला कर 9605 कार्डधारियों ने 12.98 करोड़ रूपये का निःशुल्क इलाज का लाभ लिया है। जिले के राजकीय अस्पतालों व निजी चिकित्सालयों में प्रधानमंत्री जन-आरोग्य योजना और मुख्यमंत्री जन-आरोग्य अभियान के तहत आयुष्मान कार्डधारी निःशुल्क चिकित्सा का भरपूर लाभ ले रहें हैं। इसमें अन्य प्रदेशों के विकसित शहरों में भी निःशुल्क चिकित्सा का लाभ प्राप्त करने वालों की संख्या में भारी वृद्धि हुई है। उन्होने बताया की जनपद में 2.21 लाख आयुष्मान कार्डधारी पोर्टल पर पंजीकृत  हैं। जिला- सदर अस्पताल (पुरुष) में 182, राजकीय महिला अस्पताल में 70, दुबहर सीएचसी पर 6, सोनवानी सीएचसी 4, खेजुरी सीएचसी 1, आयुष्मान कार्ड के माध्यम से निःशुल्क इलाज का लाभ लिया। वहीं निजी क्षेत्र के चिकित्सालयों जैसे गौरव हॉस्पिटल में 981, असर्फी हॉस्पिटल में 556, बलिया ट्रामा सेंटर में 30, डॉ महावीर सिंह हॉस्पिटल में 600, जीवन ज्योति हॉस्पिटल में 30, माँ चैरिटबल हॉस्पिटल में 59, सत्या हॉस्पिटल में 11, शांति देवी नेत्रालय में 372, शांति सर्जिकल हॉस्पिटल में 19, शारदा हॉस्पिटल में 342, शिवम हॉस्पिटल में 60, एस0 पी0 सिटी हॉस्पिटल में 833 लाभार्थियों ने निःशुल्क इलाज प्राप्त किया है।


रिपोर्ट -त्रयंबक नारायण देव गांधी


No comments