Breaking News

Akhand Bharat

खेल के क्षेत्र में दिख रहा बेहतर परिणाम


 24 जनवरी को दीक्षांत समारोह, गोल्ड मेडलिस्ट में 75 फीसदी छात्राएं


बलिया: जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय का तीसरा दीक्षांत समारोह 24 जनवरी को आयोजित होगा। इसमें विभिन्न विषयों में अव्वल आने वाले कुल 33 विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल प्रदान किया जाएगा। इसमें 8 छात्र व 25 छात्राएं हैं। दीक्षांत समारोह में कुल 22621 छात्र-छात्राओं को उपाधि वितरित की जाएगी, जिसमें स्नातक के 7851 छात्र व 9148 छात्राओं संग कुल 16999 तथा परास्नातक में 2307 छात्र व 3315 छात्राओं सहित कुल 5622 छात्र-छात्राएं शामिल हैं। इसके अलावा खेल के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने वाले एक छात्र को भी गोल्ड मेडल दिया जाएगा।


विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर कल्पलता पांडेय ने शुक्रवार को विश्वविद्यालय सभागार में प्रेस वार्ता कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि गोल्ड मेडलिस्ट में 75 फीसदी से अधिक छात्राओं की संख्या यह साबित करता है कि जनपद में लड़कियां मेहनत कर रही है। यह यहां के छात्र और छात्रा दोनों के लिए प्रेरणादायी है। उन्होंने कहा कि पिछले दीक्षांत समारोह में मैंने विश्वविद्यालय को बेहतर बनाने के लिए जो भी वादे किए थे, उसमें ज्यादातर पूरे हुए हैं। संकुल बनाने को कहा था। वर्तमान में जनपद में 14 संकुल बनाए गए। एक संकुल में 12 से 15 महाविद्यालयों को रखकर शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर बनाने का प्रयास जारी है। महाविद्यालयों को क्षेत्रीय लोगों के साथ बैठक करने को कहा गया है और उसकी रिपोर्ट भी जमा करने के निर्देश हैं। विवि की ओर से अरविंद नेत्र पांडेय इसकी मानिटरिंग कर रहे हैं।


उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष के किए वादे के मुताबिक नए कोर्स भी विश्वविद्यालय में शुरू हुए। एमएससी हॉर्टिकल्चर की क्लास केंपस नहीं चल रही है। मैथ और फिजिक्स की ऑनलाइन क्लास तो चल रही है लेकिन पहली फरवरी से कैम्पस में भी क्लास शुरु हो जाएगी। पीजी डिप्लोमा के सभी विषयों के अध्यापक नियुक्त कर दिए गए हैं। निर्माण की बात की जाए तो यूपीपीसीएल द्वारा हॉस्टल बनाया जा रहा है। भवन निर्माण समिति के सहयोग से मानक के अनुरूप कार्य कराने पर हमारा पूरा जोर है।




(बलिया )-कुलपति प्रो. पांडेय ने कहा कि विश्वविद्यालय में खेल को भी बढ़ावा देने पर हमारा पूरा फोकस है। इसके लिए 14 परिसर में एक-एक खेल आवंटित किया गया है। अंतर-विश्वविद्यालयीय की छह टीमें बाहर खेलने गई थी, जिसमें स्नातक द्वितीय के छात्र आरिफ अली ने हाफ मैराथन में गोल्ड मेडल प्राप्त किया। विवि ने भी आरिफ को गोल्ड मेडल देने का निर्णय लिया है, जिससे अन्य छात्र-छात्राएं भी प्रेरित हो सकें। इंटरनेशनल स्तर पर भी उसके चयन की संभावनाएं हैं। उन्होंने बताया कि एक और छात्र ने एथलेटिक्स में 6वीं पोजीशन लाया, जिसका खेलो इंडिया में चयन सम्भव है। यह सिर्फ विश्वविद्यालय के लिए ही नहीं, बल्कि पूरे जिले के लिए खुशी की बात है। यहां की प्रतिभाओं को सुविधाएं दी जाए तो बेहतर परिणाम मिल सकते हैं।

 

रिपोर्ट - त्रयंबक नारायण देव गांधी

No comments