Breaking News

Akhand Bharat welcomes you

जाने कैसे ठीक हुआ 35 वर्ष पुराना घाव

 



बलिया। यह किसी आश्चर्य से कम नहीं कि कैंसर की लाइलाज बीमारी को पकड़ी धाम काली मंदिर के पुजारी राम बदन भगत द्वारा दी गई जड़ी बूटियों के सेवन से 35वर्ष पुराना जख्म न सिर्फ ठीक हो गया बल्कि पीड़ित महिला अपने परिवार के साथ हंसी खुशी जीवन यापन कर रही है। 




बलिया जिले के अपाइल गांव कू भावुपूर पूरवा निवासी वशिष्ठ चौहान ने बताया कि मेरी मां सितमी देवी पत्नी बिरजा चौहान करीब 35 वर्ष से पैर में हुए फोड़ा की वजह से परेशान थी। उसके इलाज के लिए परिजनों में बलिया जिला अस्पताल समेत बनारस और अन्य बड़े अस्पतालों में का चक्कर लगाया, लेकिन कोई राहत नहीं मिली। इसके अलावा अंधविश्वास के चक्कर में पड़कर उन्होंने कई ओझा सोखा की परिक्रमा की, लेकिन आर्थिक शोषण के अलावा कुछ हासिल नहीं हुआ।तब  अपनी बहन की सलाह पर उसने बिना समय गंवाए सीधे महज मां काली के दरबार में हाजिरी लगाई, जहां पुजारी रामबदन भगत द्वारा दी गई जड़ी के सेवन पैर का घाव पूरी तरह ठीक हो गया। 




डेस्क

No comments