Breaking News

Akhand Bharat welcomes you

एक तिजिया मेले में 8 वर्षिय बालक को रोते हुए देख लोगो ने पुलिस को शौपा

  


मनियर, बलिया । मनियर थाना क्षेत्र अंतर्गत मनियर बस स्टैंड पर लगे एक तजिया के मेले में एक 8 वर्षीय बालक को रोते हुए एक महिला पायी। महिला उसे मेले में उपस्थित लोगों के समक्ष यह कहकर उस बालक को घर लाई कि अगर  इसके माता-पिता खोजे तो मेरे घर भेज देना ।अगले दिन बृहस्पतिवार को बांसडीह कोतवाली थाना क्षेत्र के हालपुर निवासी एक व्यक्ति उक्त महिला के घर पहुंचा तथा उसे अपना पुत्र कहकर ले जाने लगा जबकि वह बालक उसे देखकर कांपने लगा तथा कहा कि यह मेरा असली पिता नहीं है। मैं इसके साथ नहीं जा सकता। मामला मनियर थाने पहुंचा। उसके बाद उक्त बालक ने जो कहानी बताई वह इस प्रकार से है।

 बालक ने बताया कि मेरा नाम शिवा है ।मेरे पिता का नाम संदीप विश्वकर्मा है ।मैं जौनपुर का रहने वाला हूं ।मेरा इस दुनिया में कोई नहीं है ।बालक ने रोते हुए कहा कि जब मैं 4 वर्ष का था तो मेरे माता-पिता की हत्या कर दी गई। उसके बाद मैं भटक कर प्रयागराज चला गया ।प्रयागराज में यह व्यक्ति मुझे मिला और जबरदस्ती मुझे अपने घर बांसडीह कोतवाली थाना क्षेत्र के हालपुर में लेकर चला आया। यह व्यक्ति मुझे बहुत प्रताड़ित करता था ।मुझे घर का सारा बर्तन धुलवाता था अपने बच्चों का लैट्रिन साफ करवाता था। फिर कल मैं हालपुर से भटक कर इकतिजिया मेले में चला आया ।मैं इस व्यक्ति के साथ नहीं जा सकता।यह मुझे बहुत प्रताड़ित करता है।पुलिस  शिवा को अपनी देखरेख में ले लिया तथा उसे चाइल्ड केयर सेंटर भेजने की प्रक्रिया में लगी हुई है।

 इस संदर्भ में पूछे जाने पर थाना प्रभारी मनियर मंतोष सिंह ने बताया कि हमारे विभाग के लोग बच्चे को लेकर बलिया न्यायालय गए हुए हैं वहां से उसे चाइल्ड केयर सेंटर भेजे जाने की प्रक्रिया में लगे हुए हैं।


प्रदीप कुमार तिवारी

No comments