Breaking News

पलक झपकते काफूर हुई खुशिया चहुओर पसरा मातम



चिलकहर, बलिया । समीपवर्ती गांव पंडितपुरा में मंगलवार की सुबह खुशी का माहौल अचानक गम में बदल गया जब  छोटे भाई के तिलक समारोह में सभी लोग खुशी मना रहे थे वहीं बड़े भाई विनय प्रकाश तिवारी 27 वर्ष की अचानक मौत से परिवार में कोहराम मच गया।
चिलकहर थाना क्षेत्र के पंडितपुरा गांव में सोमवार को शिवजी तिवारी के पुत्र विकेश तिवारी का बड़काखेत, सुरही से तिलक आया था, और 16 फरवरी को शादी तय थी। तिलक समारोह में सभी नाते रिश्तेदार जुटे हुए थे। छोटे भाई के शादी समारोह में शामिल होने के लिए बड़े भाई विनय प्रकाश तिवारी भी आए थे। विनय प्रकाश के साथ ही बड़ा भाई प्रमोद कुमार और छोटा भाई विकेश कुमार दिल्ली की एक प्राइवेट कम्पनी में साथ ही रहकर काम करते थे। रात में ही तिलक का कार्यक्रम सम्पन्न हो गया और रिस्तेदार खाना खाकर वापस चले गये। विनय कुमार भी सभी लोगों के आवभगत में लगे रहे और बारह बजे के करीब खाना खाकर सोने चले गए। सुबह चार बजे जब पत्नी ने उन्हे जगाया तो देखा हाथ पैर पुरी तरह से ठंढा पड़ गया है। पत्नी रोशनी ने परिजनों को जानकारी दी। आनन-फानन में परिजन विनय प्रकाश को  निजी साधन से इलाज के लिए जिला चिकित्सालय पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। शव घर पहुंचते ही परिवार में कोहराम मच गया। वहींपत्नी रोशनी दहाड़े मारकर रोने लगी। वहीं परिवार के लोग भी अचानक इस घटना से स्तब्ध थे बताते चलेकि विनय प्रकाश की शादी चार वर्ष पूर्व  18 फरवरी 2016 को हुई थी। पिछले माह 20 जनवरी को एक बच्ची का जन्म हुआ था। जिसकी मूल शान्ति सतईसा का आयोजन शादी के बाद 17 फरवरी को किया जाना था इसी रश्म के कारण पिता विनय प्रकाश अपनी बच्ची का मुख भी नही देख पाए थे। पत्नी रोशनी बार-बार पति के शव से लिपटकर दहाड़े मार रही थी और अपनी सुध - बुध खो बैठी थी। दुख और दर्द का ऐसा मंजर देखकर मौजूद लोगों की आंख भर आई और एक ही आवाज निकल रही थी कि उपर वाले तूने ऐसा क्यों किया।



रिपोर्ट : संजय पांडेय

No comments