Breaking News

श्रीनगर ग्राम सभा में हुई बिन्दु वर्मा हत्याकांड के दो आरोपी गिरफ्तार-


रेवती (बलिया)। स्थानीय थाना क्षेत्र के श्रीनगर  गांव में गत 31 जनवरी की रात हुई बिन्दु वर्मा हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर घटना को  अंजाम देने वालें तीन आरोपियों में दो को गिरफ्तार कर चालान न्यायालय कर दिया जबकि मुख्य  आरोपी अभी भी फरार है । उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस द्वारा  दविश दी जा रही है। पुलिस द्वारा घटना में  प्रयुक्त चाकू व दांव भी बरामद किया गया हैं ।
बताते चले कि श्रीनगर गांव में 31जनवरी की रात साढ़े दस बजे उमेश वर्मा के घर में घुसे अज्ञात बदमाशों ने घर में सो रहीं उमेश वर्मा की पत्नी बिन्दु वर्मा (45 वर्ष) व पुत्री अंशु वर्मा (17 वर्ष) को चाकू व दांव से मारकर घायल कर दिया । बाद में  ईलाज के लिए  जिला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में उसकी मौत हो गई । जबकि उसकी पुत्री अंशु का  ऊपचार वाराणासी में चल रहा है । पुलिस द्वारा 452,307 व 302 के तहत प्राथमिकी दर्ज कर मामलें की जांच की जा रहीं थी। घटना के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस  अधीक्षक देवेन्द्र नाथ दूबे के निर्देश पर स्थानीय पुलिस के साथ एस ओ जी टीम द्वारा मामलें जांच , आरोपियों के काल डिटेल व सर्विलांस के माध्यम से पुलिस को घटना के दस दिन बाद   खुलासा करने में सफलता मिली हैं । थानाध्यक्ष शैलेश सिंह ने बताया कि सन 2017 में पड़ोसी सत्यनायण वर्मा के साथ हुई मारपीट के मामलें में ऊमेश वर्मा व उसकी पत्नी बिन्दु पर मुकदमा कायम हुआ था । सत्यनायण  वर्मा के पुत्र पिन्टू वर्मा की पत्नी सीमा का लगाव बिन्दु से था। पिन्टू वर्मा बाहर रहता था। उसकी पत्नी सीमा अपने बच्चे के साथ मायके चली गई। वहां  उसकी अन्यत्र  दूसरी  शादी भी हो गई थी। 2017 की रंजीश तथा बाद में पत्नी के दूसरी शादी कर लिए जाने से पिन्टू काफी क्षुब्ध रहता था। पिन्टू व उसके एक भाई संदीप दिल्ली रह कर प्राईवेट कम्पनी में  काम करते हैं । घर पर तीसरा छोटा भाई बबलू रहता था। एक महिने पूर्व पिन्टू ने  दिल्ली में  ही घटना की रणनीति  बनाई थी। घटना से एक दिन 30 जनवरी को पहले संदीप गांव आया। पुनं घटना के दिन 31 जनवरी को पिन्टू गांव आया था ।गांव से बाहर पम्मीसेट में छिप गया। 31 की रात तीनों भाई उमेश के घर में घुसे तथा घटना को अंजाम देकर पिन्टू व संदीप पुनं फरार हो गये। पुलिस द्वारा सर्विलांस के माध्यम से शनिवार की देर शाम संदीप व बबलू को रेवती रेलवे स्टेशन के समीप से गिरफ्तार कर लिया गया। उनकी शिनाख्त पर गांव में पम्मीसेट के पास हत्या में प्रत्युत चाकू व दांव भी बरामद हो गया । आरोपियों की गिरफ्तारी में एस ओ जी प्रभारी राजकुमार, एस आई संजय , सरोज,मायाशंकर दूबे तथा काष्टेबुल धनंजय, प्रदीप, विजय आदि शामिल रहे । गिरफ्तार दोनों आरोपियों को रविवार को चालान न्यायालय कर दिया गया ।
रिपोर्ट - पुनीत केशरी - रेवती

No comments