Breaking News

आज रात आसमान में दिखेगा सुपरमून, करें दीदार



नई दिल्ली। आज रात आप एक खूबसूरत खगोलीय घटना देखने को मिलेगी, खगोलविदों का कहना है कि आज रात आसमान में साल 2020 का पहला सुपरमून दिखाई देगा, सुपरमून के वक्त चांद पहले से ज्यादा बड़ा और चमकदार और बड़ा दिखाई देता है, बता दें कि सुपरमून उन लोगों के लिए एक शानदार अवसर है, जो चंद्रमा के बारे में जानना और उसका अन्वेषण करना चाहते हैं, सुपरमून के कारण चांद हर दिन के मुकाबले 14 फीसदी बड़ा और 30 फीसदी ज्यादा चमकदार दिखाई देता है, पश्चिमी देशों में इसे Snow Moon, Storm Moon या Hunger Moon कहा जाता है।
आज के बाद साल 2020 के सुपरमून के बाद आपको मार्च, अप्रैल और मई के महीने में भी सूपरमून दिखाई देगा, इसके बाद पूरे साल आसमान में सुपरमून नहीं दिखेगा,TimeandDate.com की रिपोर्ट के मुताबिक रविवार देर रात करीब 1 बजकर 03 मिनट पर आसमान में सुपरमून नजर आएगा इसलिए भारत में ये खूबसूरत नजारा आज शाम ही देखा जा सकता है, हालांकि इसका निश्चित समय नहीं बताया गया है।
मालूम हो कि पृथ्वी की कक्षा में घूमते हुए चंद्रमा जब धरती के सबसे नजदीक आ जाता है तो उस स्थिति को 'पेरीजी' और कक्षा में जब सबसे दूर होता है तो उस स्थिति को 'अपोजी' कहते हैं, आज चांद 'पेरीजी' होगा और इस कारण वो बड़ा दिखाई देगा, ये तो हुई खगोलीय बातें लेकिन साहित्य में तो चांद को सुंदरता और मोहब्बत की मिसाल माना जाता है, इसलिए साल की पहली रात आप सभी लोग चांद का दीदार अपने-अपने चांद के साथ करें तो बेहतर होगा, वैसे नासा इसका लाइव प्रसारण भी करेगा।
चंद्रमा से आसमान नीला नहीं बल्कि काला दिखायी देता है क्योंकि वहां प्रकाश का प्रकीर्णन नहीं है।

चन्द्रमा की कक्षीय दूरी, पृथ्वी के व्यास का 30 गुना है इसीलिए आसमान में सूर्य और चन्द्रमा का आकार हमेशा एक जैसा नजर आता है।

कहते हैं आज से 4.5 अरब साल पहले पृथ्वी से हुई एक टक्कर के बाद चंद्रमा का जन्म हुआ था। चंद्रमा एक उपग्रह है जो कि पृथ्वी के चारों ओर चक्कर लगाता है। विज्ञान के हिसाब से चांद पर पृथ्वी की तुलना में गुरुत्वाकर्षण कम है इसी कारण चंद्रमा पर पहुंचने पर इंसान का वजन कम हो जाता है। वजन में ये अंतर करीब 16.5 फीसदी तक होता है। यह सौर मंडल का 5वां सबसे विशाल प्राकृतिक उपग्रह है।
डेस्क

No comments