Breaking News

> > >

कोटा से आ रहे बच्चों के रहने के लिए इंतजाम को जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने व्यवस्था जांची



बलियाः कोटा से आ रहे 212 बच्चों के रहने के लिए मुकम्मल इंतजाम किया जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा शहर के कुछ प्रमुख होटलों व स्कूलों में रहने व खाने की बेहतर व्यवस्था की गयी है। जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ के साथ रविवार को शहर के कुछ प्रमुख स्कूल व होटलों में निरीक्षण कर व्यवस्था जांची। उन्होंने एसडीएम सदर को निर्देश दिया कि सभी स्कूली बच्चे हैं, लिहाजा इनके रहने-खाने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए, इसका विशेष ख्याल रखा जाए।
जिलाधिकारी ने चन्द्रावली होटल में निरीक्षण के दौरान कहा कि कमरों की साफ सफाई ढ़ंग से करा दिया जाए। वहां 22 कमरा रखा गया है। इसके बाद सेक्रेट हर्ट स्कूल, सहरसपाली व नागाजी स्कूल, माल्दुपुर में गए। वहां शुद्ध पेयजल, हवा आदि सम्बन्धी जरूरी दिशा-निर्देश देने के बाद महादेव होटल पहुंचे। वहां 14 कमरों में बच्चों को रहने की बेहतर व्यवस्था की गयी है। इसके अलावा डाइनिंग हाॅल व बाहरी हाॅल में भी नाश्ता-पानी व आराम करने के लिए पर्याप्त जगह है। जिलाधिकारी ने वहां की व्यवस्था पर संतोष जाहिर किया। उन्होंने एसडीएम सदर को यह भी निर्देश दिया कि शहर के दो-चार और होटलों को तैयार रखेंगे, ताकि जरूरत पड़ने पर उनका भी उपयोग किया जा सके।

ऐसी किट से होगी जांच, जिससे कुछ ही देर में आ जाएगी रिपोर्ट

जिलाधिकारी ने बताया कि कोटा से आने वाले छात्रों का टेस्ट ऐसी किट से किया जाएगा, जो महज कुछ ही मिनट में रिपोर्ट बता देगी। इसके लिए बच्चों के साथ-साथ किट भी आ रही है। इसका फायदा यह होगा कि छात्रों को यहां देर तक रूकना नहीं पड़ेगा। मेडिकल परीक्षण के बाद संतुष्टि मिलने पर उन्हें शीघ्र ही घर भेज दिया जाएगा।

अभिभावकों से अपील

- जिलाधिकारी श्री शाही ने सभी अभिभावकों से अपील की है कि अपने बच्चों के प्रति पूरी तरह आश्वस्त रहेंगे। उनको बेहतर व्यवस्था के बीच रखा जाएगा। जांच की औपचारिकताएं पूरी करने के बाद उन्हें घर भेज दिया जाएगा। हमारा प्रयास है कि शीघ्र ही जांच की प्रक्रिया पूरी कर ली जाए।



रिपोर्ट : धीरज सिंह

No comments