Breaking News

कोरोना खत्म करने के संकल्प के साथ कर रहे काम



बलिया : वैश्विक महामारी कोरोना से जंग लड़ रहे योद्धाओं के जज्बे को पूरा देश सलाम कर रहा है। इस योद्धाओं की हौसलाअफजाई भी हर किसी द्वारा की जा रही है। जनपद के डॉक्टर्स भी इस कोरोना वायरस के खत्म करने के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहे हैं। ऐसे ही जिला महिला चिकित्सालय स्थित प्रसवोत्तर केंद्र (पीपी सेंटर) में कार्यरत नवजात शिशु एवं बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर सिद्धार्थ मणि दूबे है, जो कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम की निगरानी के लिए बनी सर्विलांस मैनेजमेंट टीम में पिछले एक माह से कार्य कर रहे हैं। शबे बड़ी बात कि इस टीम में कार्य करने के साथ अगर कोई नवजात शिशु की दिक्कत लेकर आता है तो उसको भी देखने का काम करते हैं।

जब से इस आपदा में ड्यूटी लगी तब से वह काम से लौटने के बाद घर भी जाना छोड़ दिए हैं। डॉ दुबे का ढाई साल का बेटा है, जिसे देखना भी होता है तो वह सिर्फ घर के बाहर से देखकर वापस चले आते हैं। यानी इस बीच वह परिवार से पूरी तरह दूर हैं। डॉ दूबे का कहना है कि परिवार से पहले फर्ज है, जिसे चिकित्सक बनने की पढ़ाई के दौरान  बकायदा बताया गया था। एक डॉक्टर के दायित्व को निभाने के लिए इससे बेहतर समय शायद ही कभी मिलने वाला। अब तो इस बीमारी को पूरी तरह खत्म करने का संकल्प के साथ आगे बढ़ रहे हैं। पूरा मेडिकल स्टाफ जिस तरह निडर होकर काम कर रहा है उससे तो यह तय है कि अब यह बीमारी ज्यादा दिन हमारे देश में टिकने वाली नहीं।



रिपोर्ट : धीरज सिंह

No comments