Breaking News

इन 9 जिलों में बारिश और आंधी का अलर्ट, मिलेगी गर्मी से राहत




नई दिल्ली। दिल्ली और उत्तर प्रदेश समेत पूरे उत्तर भारत में इस समय आसमान से आग बरस रही है। लू के थपेड़ों ने लोगों का जीना मुश्किल कर रखा है और घरों के अंदर भी चिलचिलाती गर्मी पसीने छुड़ा रही है। इस बीच यूपी, हरियाणा और राजस्थान के 9 जिलों को लेकर भारतीय मौसम विभाग ने राहत भरी खबर दी है। मौसम विभाग का कहना है कि अगले दो घंटों में इन तीनों राज्यों के 9 जिलों में आंधी और हल्की बारिश देखने को मिलेगी। बारिश के चलते लोगों को गर्मी से भी थोड़ी-बहुत राहत मिल सकती है।
मौसम विभाग ने जिन 9 जिलों में आंधी और बारिश का अलर्ट जारी किया है, उनमें यूपी का मथुरा, आगरा, टुंडला, फीरोजाबाद और एटा, हरियाणा का गोहाना, करनाल और राजस्थान का डीग व भरतपुर जिला शामिल है। अगले दो घंटों में इन 9 जिलों के अलावा इनसे सटे आसपास के इलाकों में भी हल्की बूंदाबांदी होने के आसार हैं। गौरतलब है कि उत्तर भारत में इस समय भीषण गर्मी की मार पड़ रही है और पारा 45 डिग्री के पार पहुंच रहा है।

वहीं, बात अगर पूरे उत्तर भारत की करें तो गर्मी से जूझ रहे लोगों को 28-29 मई से राहत मिल सकती है। मौसम विभाग का कहना है कि पिछले दो दिनों में दिल्ली और आस-पास के इलाकों में रिकॉर्ड तापमान दर्ज किया गया है। दिल्ली के सभी हिस्सों में फिलहाल तापमान 45-46 डिग्री है। राजस्थान के चूरू और पिलानी में देश का सर्वाधिक तापमान रिकॉर्ड किया जा चुका है। मौसम विभाग के मुताबिक, 28 मई से उत्तर में पूर्वी हवाएं चलने वाली हैं, जिसके बाद गर्मी कम होनी शुरू हो जाएगी और 29 मई से उत्तर भारत के इलाकों में बारिश देखने को मिलेगी।

इससे पहले मंगलवार को ही मौसम विभाग ने पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में भारी बारिश और बाढ़ की चेतावनी जारी की थी। मौसम विभाग ने बताया था कि इन तीन राज्यों में 28 मई तक मूसलाधार बारिश होगी। भारी बारिश को ध्यान में रखते हुए असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश को रेड अलर्ट पर रखा गया है। इसके अलावा असम के दो जिलों में भीषण बाढ़ की भी चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी से उठी तेज, गर्म और नम हवाओं के कारण पूर्वोत्तर भारत में तीन दिन तक काफी तेज बारिश का दौर देखने को मिलेगा।

'द वेदर चैनल' की रिपोर्ट के मुताबिक, पूर्वोत्तर भारत में इस समय नदियां उफान पर हैं। ऐसे में भारी बारिश के अलर्ट को देखते हुए केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) ने असम के जोरहाट और सोनितपुर जिलों के लिए ब्रह्मपुत्र नदी में गंभीर स्तर की बाढ़ की चेतावनी दी है। इसके अलावा असम के बारपेटा, तिनसुकिया, डिब्रूगढ़, नलबाड़ी, और बक्सा जिले में सामान्य स्तर की बाढ़ का अलर्ट घोषित किया गया है। केंद्रीय जल आयोग की वेबसाइट के आंकडो़ं के मुताबिक जोरहाट जिले में निमाति घाट स्टेशन पर इस समय जल स्तर 85.89 मीटर पर है, जो खतरे के निशान से 0.8 मीटर ऊपर है।

वहीं, असम के सोनितपुर और बक्सा जिलों में नदी का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर चुका है और किसी भी समय बाढ़ के उच्चतम स्तर को छू सकता है। इसी तरह कई अन्य जिलों में नदी का जल स्तर पहले ही चेतावनी के लेवल के पार जा चुका है और तेजी से खतरे के निशान की तरफ बढ़ रहा है। असम और मेघालय के अलावा, भारतीय मौसम विभाग ने बुधवार से शनिवार के बीच नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश का अनुमान जताया है।
डेस्क

No comments