Breaking News

इंदारा फेंफना विद्युतीकरण रेल लाइन का दोहरीकरण




रसड़ा (बलिया) देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान जहाँ एक ओर रेलवे ट्रैकों,सिगनलों,इंजनो ,कोचों  एवं स्टेशनों का अनुरक्षण कार्य तेजी से किया जा रहा है  वहीं दूसरी ओर दोहरीकरण ,विद्युतीकरण नये प्लेटफार्मो के निर्माण एवं उनके उच्चीकरण का कार्य भी प्रगति पर हो रहा है। इस तरह के कार्य से जहां संरक्षा सुदृढ़ हो रही है वहीं दूसरी ओर लोगो को रोजगार भी प्राप्त हो रहा है ।
इसी क्रम में पूर्वोत्तर रेलवे के शाहगंज-फेफना रूट पर विद्युतीकरण के साथ-साथ प्लेटफार्मों का उच्चीकरण तथा नए प्लेटफार्म की अवस्थापना का कार्य के साथ अब दोहरीकरण के कार्य में भी तेजी आयी है । शाहगंज-फेफना रेल खण्ड पर 150 ट्रैक किमी को कवर करने वाले इंदरा-फेफना और मऊ-शाहगंज सेक्शन के बीच दोहरी परियोजनाओं का काम जोरों पर है। इस दौरान इंदरा-फेफना रेल खण्ड पर हलधरपुर से लगायत रतनपुरा के बीचतक पोकलैंड मशीन से रास्ता बनाया गया है ताकि डम्फर से मिट्टी गिराने का कार्य कराया जा सके । पहले से ही बिछाई गये रेलवे ट्रैक के किनारे तारों की बैरिकेटिंग लगाई गयी है ताकि दूसरी साइड में पटरी बिछाने में सुविधा हो सके । इस वर्ष यातायात चालू करने के लिए 27 किमी रेल खंड का लक्ष्य रखा गया है । इस रेल मार्ग के दोहरीकरण हो जाने के पश्चात छपरा –लखनऊ और मऊ- लखनऊ के बीच वैकल्पिक दोहरीकरण मार्ग उपलब्ध हो जायेगा । इससे रेलवे को इस मार्ग में मौजूदा यातायात की भीड़ को कम करने में मदद मिलेगी। इस दोहरीकरण परियोजना में आधुनिक एल.ई.डी.कलर लाइट सिगनलिंग तकनीकों को अपनाया जाएगा और इसका विद्युतीकरण किया जाएगा। इससे छपरा -दिल्ली और मऊ -दिल्ली के बीच यात्रा का समय भी कम हो जाएगा। संपूर्ण परियोजना दिसंबर 2022 तक पूरी होने की उम्मीद है।
इसी क्रम में मऊ - शाहगंज के मध्य समपार संख्या 43 C के स्थान पर लिमिटेड हाईट सब वे बनाने के लिए आर सी सी के बॉक्स डाले गए। अब रेलवे रक्षित समपारों को भी रोड ओवर ब्रिज या रोड अंडर ब्रिज के माध्यम से समाप्त करने की दिशा में प्रयत्नशील है जिससे ट्रेनों समयपालन में और अधिक सुधार किया जा सके तथा समपार संरक्षा को और सुदृढ़ किया जा सके। आमजन भी बिना किसी बाधा के निर्बाध रूप से आ जा सकें।
देश के विकास में अपनी भूमिका का निर्वहन करते हुए पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा विभिन्न कार्य किये जा रहे हैं। जिससे विकास की गति को और विस्तार मिल सके।
यह जानकारी अखण्ड भारत न्यूज़ संवाददाता पिन्टू सिंह को
जनसंपर्क अधिकारी वाराणसी
अशोक कुमार दिया ।



रिपोर्ट : पिन्टू सिंह

No comments