Breaking News

जानें कहा कोरोना संक्रमितों के परिजनों ने जांच टीम पर लगाया लापरवाही का आरोप


बैरिया(बलिया): चिकित्सकीय जांच टीम ने अगर अपनी जिम्मेदारी सतर्कतापूर्वक निभाई होती और बाहर से आए लोगों की ली गई सैंपल रिपोर्ट कब आएगी, की सही जानकारी दी गई होती तो आज गांव दहशत में नहीं होता। वैश्विक महामारी कोरोना से प्रभावित क्षेत्र के दलन छपरा व दोकटी गावों में अहमदाबाद व केरल से आए एक-एक व्यक्ति के पॉजिटिव मिलने के बाद पीड़ितों के परिजनों ने जांच टीम पर घोर लापरवाही का आरोप लगाया है। परिजनों ने महामारी के फैलाव होने की सारी जिम्मेदारी जांच प्रक्रिया में देरी को ठहराया है। परिजनों ने लोगों से संपर्क में आने की बात पर सीधे तौर पर जांच प्रक्रिया में देरी होना बताया।
परिजनों का कहना है कि 16 मई को जांच का सैंपलिंग किया गया, उसी दिन हम लोग पूछे थे कि रिपोर्ट कब तक आएगा। जिस पर जांच दल के लोगों ने बताया कि जांच का रिपोर्ट तीन दिनों में आ जाएगा। उसके बाद हमलोग चौथे व पांचवें दिन रिपोर्ट लेने पीएचसी मुरली छपरा गए तो वहां हम लोगों को यह बताया गया कि जांच अगर पॉजिटिव होता तो सूचना मिल गया होता। लगता है कि आप लोगों का रिपोर्ट निगेटिव होगा इसीलिए कोई सूचना नहीं मिला। इसके बाद से दोनों युवक लापरवाह हो गए और एक दूसरे से संपर्क में आ गए। अगर समय से रिपोर्ट आ गया होता या फिर जांच दल सही जानकारी दिया होता तो आज गांव में दहशत का माहौल नहीं होता और सभी लोग सुरक्षित रहते।
प्रबुद्ध लोगों का कहना है कि शासन-प्रशासन ऐसे मामलों में तेजी लाएं। वहीं गैर जिम्मेदाराना सलाह चिकित्सक की टीम देकर महामारी का न्योता न दें, जिससे इस वैश्विक महामारी पर रोक लगाया जा सके।



रिपोर्ट : वी चौबे

No comments