Breaking News

जानें बलिया के किस गाँव में चमगादड़ों को खा रहे हैं लोग



मनियर,बलिया। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के  दंश से पूरा विश्व झेल रहा है। इस बीमारी का मूल श्रोत चमगादड़ को माना जा रहा है। ऐसे में पेड़ों से लू के थपेड़ों एवं भीषण गर्मी से चमगादड़ों को पेड़ों पर से गिरने एवं उन्हें कुत्तों एवं इंसानों के खाने के कारण क्षेत्र में दहशत व्याप्त है। 

बताते चलें कि मनियर थाना क्षेत्र के बिशुनपुरा गांव के खड़ैंचा मौजे में  साधन सहकारी समिति के पास बगीचे में कई वर्षों से पेड़ों पर चमगादड़ रह रहे हैं। पिछले दिनों चले लू के थपेड़ों एवं भीषण गर्मी के चलते चमगादड़ दर्जनों की संख्या में विगत सोमवार से पेड़ों से मर कर  गिर रहे हैं। उन्हें कुत्ते इधर-उधर फैलाकर नोच रहे हैं। चमगादड़ का मांस कुछ इंसानों द्वारा खाए जाने की भी पुष्टि हुई है। 

चमगादड़ों की मौत की सूचना ग्राम प्रधान प्रतिनिधि श्री राम तिवारी उर्फ बब्लू ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ सहाबुद्दीन को दिया। डाक्टर सहाबुद्दीन की सूचना पर चिकित्सकों की टीम एवं वन विभाग मौका मुआयना किया।  जिसमें डॉ लाल बहादुर, डॉक्टर के पी नारायण, डॉक्टर राज भैरव, प्रेमशंकर सिंह सहित आदि लोग मौजूद थे। 

इस संदर्भ में सीवीओ बलिया डॉ अशोक कुमार मिश्रा से पूछे जाने पर बताया कि टेंपरेचर ज्यादा बढ़ रहा है। इसकी वजह से चमगादड़ मर रहे हैं। उनका सैंपल आईवीआरआई बरेली जांच के लिए भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि डाक्टरों की टीम घटनास्थल पर भेजा गया है। जिसमे पशु चिकित्सा व वन विभाग के के लोग हैं।


रिपोर्ट राम मिलन तिवारी

No comments