Breaking News

जानें किसने कहा,चाइना के सामानों का बहिष्कार शहीदों को असली श्रद्धांजलि



बलिया: सोमवार की देर रात पूर्वी लद्दाख की गलवान वैली में चीन व भारतीय सेना के बीच हुए खूनी संघर्ष में 20 भारतीय सेना के जवानों के शहीद होने पर संपूर्ण देश वासियों में आक्रोश व्याप्त है.
इसी क्रम में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बलिया के कार्यकर्ताओं ने जिला संयोजक आलोक सिंह मोनू के नेतृत्व में चीन के राष्ट्रपति का पुतला दहन के साथ साथ शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित किया गया.

इस मौके पर आलोक सिंह ने कहा कि देश के वीर जवान शहीदों का बलिदान बेकार नहीं जाएगा. उन्होंने चीन को आगाह किया कि यह 1962 का भारत नहीं यह 2020 का भारत है और हमारी सेना ईट का जवाब पत्थर से देना भली-भांति जानती है.

नगर मंत्री रतन पांडे ने कहा कि यह 21वीं सदी का भारत है और चीन की हिमाकत का मुंहतोड़ जवाब देने का समय आ गया है. इसके साथ साथ उपस्थित लोगों से चाइनीस सामानों के बहिष्कार करने की अपील किया गया. इस मौके पर मुख्य रुप से राकेश गुप्ता, दुर्गेश राय ,प्रीतम प्रजापति, अभिनव सिंह, चंचल ,अजित, सौरभ ,पवन, अंकुर आदि लोग रहे संचालन शिवाजी यादव ने किया.



रिपोर्ट धीरज सिंह

No comments