Breaking News


सनबीम,बलिया के शिक्षकों ने जानें किस कहावत को किया चरितार्थ



-जहां चाह, वहां राह के हौसले से बनाया एक अलग मुकाम


बलिया। कोविड-19 एक ऐसी त्रासदी बन चुकी है जिसने मानवीय जीवन के हर क्षेत्र को लगभग तहस-नहस ही कर दिया है जिसके परिणामस्वरूप आज तक हम सभी अपने अपने घरों में बैठे रहने के लिए मजबूर हो गये हैं। एक तरीके से देखा जाए तो हम सब का दैनिक जीवन बुरी तरह प्रभावित हूआ है। जहाँ हमारा आर्थिक विकास हासिये पर आ गया है वहीं हमारी शिक्षा व्यवस्था भी पुरी तरह अवरुद्ध हो गई है। पर कहते हैं ना कि कठिन परिस्थितियाँ ही वास्तव में हमें जीवन जीने का नया राह सीखातीं हैं। दो महीने से भी ज्यादा हो चुके लॉक डाउन की इस त्रासदी में भी सनबीम स्कूल बलिया ने शिक्षा की गुणवत्ता और निरन्तरता को बनाए रखने के अपने प्रयास मे नित नये कीर्तिमान स्थापित करता रहा है।
जहाँ चाह वहीं राह को चरितार्थ करते सनबीम स्कूल बलिया के  'प्रबंधन एवं अध्यापक', छात्रों की शिक्षा के स्तर को उन्नत बनाए रखते हुए मार्च में ही, पहले WhatsApp के माध्यम से, फिर Zoom App के माध्यम से , और फिर सरकार द्वारा Zoom App प्रतिबंधित किए जाने के उपरांत, अब Microsoft teaching के माध्यम से विद्यालय ने अपनी शिक्षा व्यवस्था को सुचारू रूप से जारी रखा है।
इस दौरान पाठ्यक्रम पर आधारित मुख्य विषयों से संबंधित शिक्षा के साथ ही साथ QCT, YOGA, GAMES, ART & CROFT,  QUIZ, MIND MATHEMATICS जैसी तमाम व्यक्तित्व विकास में सहायक कक्षाएं आयोजित की जा रही है। इन मनोरंजन गतिविधियों के माध्यम से बच्चों में शिक्षा के प्रति उत्साह कायम रखा जा सके।

सुनते हैं ऑनलाइन शिक्षा के लाभ की कहानी स्कूल के छात्रों का जुबानी 

" हम अपने स्कूल द्वारा उपलब्ध कराई जा रही ऑनलाइन शिक्षा से बहुत खुश और सन्तुष्ट हूँ। मेरे शिक्षक समस्याओं को सुनने और उसका समाधान करने के लिए हर संभव तत्पर रहते हैं। विघालय प्रबंधन द्वारा उपलब्ध कराई जा रही इस सुविधा के लिए मै उनका आभारी हूँ। पर मुझे अपने Physics Chemistry Lab, Classroom,  Playground और अपने दोस्तों की कमी महसूस करता हूँl"

पियूष सिंह
कक्षा 12 B

मेरे teachers और coordinator हर तरीके से हमारी मदद करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।मैं टाइम टेबल के अनुसार नियमित ऑनलाइन क्लास अटेंड करता हूँ और अपने सभी teachers एवं दोस्तों को देख भी पाता हूँ।"
अतुल प्रेम नारायण
कक्षा - 8B

मैं ऑनलाइन क्लास डेली अटेंड करती हूँ और माइंड स्पार्क पर मैथ्स साॅल्व करना बहुत मजेदार लगता है। मै अपने स्कूल की असेंबली हाल और लाइब्रेरी को बहुत मिस करती हूँ।"

ऋषिका राज
 कक्षा - 5 A
विघालय के निदेशक डाॅ कुँवर अरुण सिंह ने बताया कि सनबीम स्कूल बलिया जिले का पहला ऐसा स्कूल है जो छात्रों को निर्बाध आनलाइन शिक्षा प्रदान करने के लिए अपनी पूरी क्षमता एवं तन्मयता से कटिबद्ध है। श्री सिंह मानते हैं कि इसमें सनबीम स्कूल के शिक्षकों का योगदान अत्यंत सराहनीय है जिन्होंने अपने हर संभव कोशिश से छात्रों की शिक्षा की निरंतरता को सुनिश्चित किया है। इस विपदा की घड़ी में विघालय प्रबंधन अपने छात्रों एवं शिक्षकों के लिए हर समय दृढ़ता से खड़ा रहेगा।।





रिपोर्ट धीरज सिंह

No comments