Breaking News

पंचतत्व में विलीन हुए चितरंजन, दाह संस्कार में जुटी हस्तियां




बाँसडीह, बलिया: मानवाधिकारवादी चिंतक चितरंजन सिंह शनिवार को पंचतत्व में विलीन हो गए। बताते चलें कि लंबी बीमारी के बाद चितरंजन सिंह का निधन शुक्रवार हो गया। वो लंबे  समय से बीमार चल रहे थे। गत 18 जून को उनकी तबीयत अत्यधिक खराब होने पर उन्हें शहर के एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था। जहाँ  से 21 जून को चिकित्सक ने उन्हें वाराणसी के लिए रेफर कर दिया था। 22 जून को बीएचयू वाराणसी के चिकित्सक ने भी उन्हें घर ले जाने की सलाह दी थी। तभी बाँसडीह तहसील अंतर्गत स्थित सुल्तानपुर उनके पैतृक आवास पर उनका उपचार के साथ देखभाल चल रहा था।

 सुल्तानपुर गांव में हुआ दाहसंस्कार 

चितरंजन सिंह शनिवार को पंचतत्व में विलीन हो गए। दाह संस्कार में जहाँ इलाका के लोगों का हुजूम रहा। वहीं श्रद्धांजलि देने पहुँचे हस्तियों का भी तांता लगा रहा है।स्व चितरंजन सिंह को श्रद्धांजलि देने पहुँचे बलिया सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त , पूर्व मंत्री राजधारी, जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही, उपजिलाधिकारी बाँसडीह दुष्यंत कुमार मौर्य,तहसीलदार गुलाबचन्द्रा,प्रभारी निरीक्षक राजेश कुमार सिंह,  भाजपा नेत्री केतकी सिंह,कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष राघवेन्द्र प्रताप सिंह,भाकपा माले के श्रीराम चौधरी,शुशील पाण्डेय,डा हरिमोहन सिंह,अखिलेश सिन्हा, प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष जितेंद्र सिंह,गोपाल जी युवा ,लेखपाल संघ के जिलाध्यक्ष निर्भय नारायन सिंह, लेखपाल संघ बाँसडीह तहसील अध्यक्ष निर्भय कुमार सिंह,,विजय चौधरी,अनूप सिंह,योगेंद्र सिंह मुख्य रहे। तो वहीं जिलाधिकारी ने पुष्प चक्र अर्पित कर श्रधांजलि अर्पित किया।



रिपोर्ट रविशंकर पांडेय

No comments