Breaking News


जाने क्या हुआ था जब जलते हवन कुंड में कूद गई थी युवती




बलिया: इसे चमत्कार करें या मां काली की कृपा लेकिन बांसडीह कोतवाली थाना क्षेत्र के घोघा गांव निवासी मंजू चौहान पुत्री ऋषिकेश चौहान के साथ वर्ष 2018 के 18 मार्च को जो घटित हुआ उसे सुनकर सहरसा आपको भी विश्वास नहीं होगा.


हुआ यूं कि मंजू अपने परिजनों के साथ पकड़ी धाम स्थित मां काली के मंदिर में दर्शन-पूजन के लिए अपने परिजनों के साथ दर्शन-पूजन के लिए गयी थे. उस वक्त मंदिर में पूजा पाठ  हो रहा था और मंदिर के पुजारी और मां काली के अनन्य उपासक  रामबदन बाबा हवन कुंड के समीप बैठकर आहुति दे रहे थे.

इसी दौरान मंजू हवन कुंड में कूद गई. मंदिर के पुजारी रामबदन भगत बताते हैं कि यह मां की कृपा ही रही कि हवन कुंड में कूदने के बाद भी मंजू का बाल भी बांका नहीं हुआ और वह सकुशल बाहर निकल आई. जबकि मंजू के परिजनों का कहना था कि वह मानसिक रूप से बीमार थी, लेकिन इस घटना के बाद माँ की कृपा से वह पूरी तरह स्वस्थ हो गई थी.

आप जानकर यह हैरान होंगे कि ऐसे अनगिनत भक्तों का पकड़ी धाम की काली मां ने कल्याण किया है, माँ की कृपा से आज असाध्य रोगों से पीड़ित लोग भी भले चंगे होकर अपना दैनिक जीवन हंसी खुशी व्यतीत कर रहे हैं.





डेस्क

No comments