Breaking News

मणि मंजरी राय आत्महत्या कांड :50 दिन बाद पुलिस के हाथ खाली




मनियर (बलिया ): नगर पंचायत मनियर के चर्चित ईओ मणि मंजरी राय आत्महत्या केस  मामले में लगभग 50 दिनों से  फरार घोषित चल रहे  आरोपियों की गिरफ्तारी न होना पुलिस के कार्यशैली पर सवालिया निशान खडा़ कर रहा है। कहीं पुलिस को आरोपियों के अग्रिम जमानत के कागजात का इन्तजार तो नही है? 

गौरतलब हो कि बिगत 6 जुलाई को नगर पंचायत मनियर की ईओ रही मणि मंजरी राय ने सुसाइड नोट लिखकर बलिया कोतवाली आवास विकास कॉलोनी में अपने आवास पर पंखे के हुंक से लटकती हुई पाई गई थी।

 मृतका मणि मंजरी राय के भाई विजया नन्द राय की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने  नगर पंचायत मनियर अध्यक्ष भीम गुप्ता, ईओ सिकंदरपुर संजय राव, टैक्स लिपिक विनोद सिंह, कम्प्यूटर आपरेटर विनोद सिंह व चालक चंदन कुमार के खिलाफ आत्म हत्या करने के लिए बाध्य करने  तहरीर दी थी। जिसमें पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर  चालक चन्दन कुमार को  गिरफ्तार कर जेल भेज दिया  व शेष के तलाश  मे जुटी  लेकिन  करीब 50 दिन बितने के बाद भी पुलिस द्वारा शेष आरोपियों पर एक दिन भी दबाव न बनाना पुलिस की कार्यशैली पर तरह तरह की चर्चाएं व्याप्त है। उधर इस मामले के मुख्य आरोपी चेयरमैन भीम गुप्ता, ईओ संजय राव ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए अपील की  थी सूत्रों की मानें तो हाईकोर्ट में पड़ी अर्जी पर तारिख पर तारिख मिल रही है। जिससे आरोपिये के पशीने छुट रहे  कारण की पुलिस के  82 ,83 का कागजी  कारवाई में लगी हुई है ।

 उधर लोगों का मानना है कि पुलिस कहीं सत्ता पक्ष के दबाव में आरोपियों की गिरफ्तारी न कर अग्रिम जमानत की इन्तजार तो नही कर रही है? जिसको लेकर तरह तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म है। जानकारों की मानें तो दोनों लोगों की सुनवाई 27 अगस्त को थी।  चरचा है कि  चेयरमैन भीम गुप्ता की फाइल पुट अप होने पर अग्रिम जमानत पर  अगली तारीख 8 सितम्बर को पडी । तो ईओ संजय राव की फाईल पूट अप नही हुई है।










रिपोर्ट राम मिलन तिवारी

No comments