Breaking News

बलिया में दिखी दीवानगी की हद: आशिक को पाने के लिए प्रेमिका ने दिया धरना, पुलिस चौकी में हुआ विवाह





रतसर (बलिया):दो वर्षो से चल रहे प्रेम प्रसंग में  जब युवक ने शादी से इंकार किया तो युवती युवक के घर पहुंच गई और अपने प्यार का इजहार जमाने से कर इंसाफ की गुहार लगाते हुए चौखट पर बैठ गई।  मामला पुलिस तक पहुंचा तो चौकी प्रभारी राम अवध के समझाने बुझाने पर दोंनों पक्ष शादी को राजी हुए और चौकी परिसर में स्थित मंदिर में सिंदूरदान की रस्म पूरी कर सदा के लिए एक हो गये। 

बताते चले कि गड़वार थाना क्षेत्र के जनऊपुर निवासी सुभाष चन्द राम के पुत्र सुनील कुमार का दो वर्षो से बलिया शहर के काजीपुरा मुहल्ला निवासिनी पूनम पुत्री जीत नारायन के संग दो वर्षों से प्रेम प्रसंग चल रहा था। 

बुद्धवार को दोपहर पूनम सुनील के घर जनऊपुर पहुंची और अपने और सुनील  के बीच रिश्ते की बात सुनील के परिजनों से कर शादी की इजाजत मांगी। पूरा मामला जान गांव के लोंगों ने पूनम के परिजनों को बुलवाया । 100 नम्बर डायल कर पुलिस को भी बुला लिया। गांव के प्रधान सहित सम्मानित लोगों के बीच सुलह समझौता का वार्ता बुधवार की देर रात तक चला लेकिन कोई नतीजा नही निकला। इधर लड़की युवक से शादी के लिए अड़ी रही। 

मामला तुल पकड़ते देख पुलिस ने दोंनों पक्ष के लोंगों को गुरूवार को रतसर चौकी पर बुलाया जहां प्रभारी रामअवध के समझाने बुझाने पर सभी शादी के लिए तैयार हो गए और चौकी परिसर  स्थित मन्दिर में दोनों पक्ष के लोगों के उपस्थिति में शादी सम्पन्न हुई। 

इस मौके पर प्रधान प्रतिनिधि मु० फिरोज, दिनेश राम, राजकुमार, विष्णु देव, हरे राम, संतोष, हेड कां. अजय भारती, हेड कां. रणजीत सिंह,  मुकेश यादव, राहुल पाल, शिव प्रताप सिंह, प्रदीप यादव, प्रमोद कुमार, नागेन्द्र पटेल सहित स्थानीय लोग उपस्थित रहे। इस शादी की चर्चा दिनभर रही।



रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments