Breaking News

पंचों ने फिर सौतेली मां के हवाले की ज्योति की जिंदगी, जाने क्यों



मनियर, बलिया। कथित तौर पर सौतेली मां द्वारा पीडि़त बालिका को पंचों द्वारा समझा-बुझाकर पुनः उसकी सौतेली मां के साथ कडी़ हिदायत के साथ शुक्रवार को हवाले किया गया कि यदि बालिका को कुछ हुआ तो उसकी सारी जिम्मेदारी उसकी सौतेली मां की होगी। सौतेली मां उर्मिला देवी ने इसका लिखित दिया। बतातें चलें कि मनियर थाना क्षेत्र के मनियर बलिया मार्ग पर स्वर्गीय राम नारायण सिंह कोल्ड स्टोरेज के पास गौरा बंगही में बुधवार की देर शाम  एक 13 वर्षीय बालिका सड़क पर रोते हुए मिली थी। लोगों द्वारा पूछताछ करने पर उक्त बालिका अपना नाम ज्योति प्रसाद पुत्री हीरामन प्रसाद गोंड़ निवासी रिगवन थाना मनियर जनपद बलिया बतायी। ज्योति का कहना था कि मेरी सौतेली मां उर्मिला देवी मुझे मारपीट कर घर से बाहर निकाल दी और कही कि घर पर रहोगी तो तुम्हें काट दूंगी। डरी सहमी बालिका रिगवन से पैदल मनियर बस स्टैंड पहुँची। उसके बाद वह मनियर बलिया मार्ग होते हुए रोती जा रही थी कि लोगों द्वारा  पूछताछ करने पर अपने साथ हुई अत्याचार की बात बताई। लड़की को लोगों ने गौरा बगहीं  निवासी रीना देवी पत्नी बेचू यादव को सौंप दिया था। इसी बीच ज्योति अपनी मौसी से फोन पर बात की। मौसी की सूचना पर उसकी सौतेली मां अपने मायके के अरविंद गुप्ता निवासी बहदुरा थाना मनियर के साथ शुक्रवार को गौरा बंगही पहुँची तथा अपने साथ ज्योति को ले जाने के लिए कहने लगी। हालांकि ज्योति अपनी सौतेली मां के साथ जाने के लिए तैयार नहीं थी। वह अचेत होकर के गिर पड़ी।होस आने पर उसका कहना था कि मां मुझे मारपीट कर खदेड़ दी जबकि उसकी सौतेली मां का कहना था कि मैं दूसरे घर गई थी तब तक यह घर से निकल कर चली गई। ज्योति तथा उसकी सौतेली मां को समझा-बुझाकर भेजा गया तथा उसकी मां को सख्त हिदायत दी गई कि अगर ज्योति के साथ कोई अनहोनी होती है तो सारी जिम्मेदारी उसकी सौतेली मां उर्मिला देवी को होगी। इस मौके पर सरवार ककरघट्टी के प्रधान रामदेव यादव, जिला पंचायत वार्ड नंबर 16 के सदस्य जेपी यादव, अरविंद गुप्ता निवासी बहादुरा, लड्डू पाठक निवासी रिगवन, देवेंद्र यादव पूर्व प्रधान ककरघट्टा, विजय यादव, सुरेंद्र सिंह, रीना देवी, बेचू यादव, गोवर्धन यादव सहित इत्यादि लोग मौजूद रहे।


रिपोर्ट : राममिलन तिवारी

No comments