Breaking News

बलिया के लाल का कमालः कौन बनेगा करोड़पति की हॉट शीट से आज देगा महानायक अमिताभ बच्चन के सवालों का जवाब



बलिया। कौन बनेगा करोड़पति के 12वें सीजन में बलिया के खेजुरी थाना क्षेत्र के जिगिरसर ग्राम सभा के सोनू कुमार गुप्ता ने हॉट सीट प्राप्त कर बलिया का नाम रोशन किया है। उसकी इस सफलता से क्षेत्र के आम लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई है। लोगों ने सोनू के घर पहुंच कर उसके माता-पिता को इसके लिए बधाई दी है। सोमवार को सोनू का प्रोग्राम समय खत्म हो जाने के कारण रुक गया जो मंगलवार को भी जारी रहेगा। अब गांव व इलाके के लोग इस बात की चर्चा कर रहे हैं कि सोनू आखिर कितने पायदान तक इस प्रोग्राम में पहुंचेगा और कितनी रकम जीत कर जिले का नाम रोशन करेगा।
सोनू का जन्म वर्ष 1990 में वन विभाग में परिचालक परमानंद गुप्ता के घर हुआ। वह अपने माता पिता की छह संतानों में तीसरी संतान है। सोनू के बड़े भाई संजय कुमार गुप्ता भिलाई में रहकर परिवार का जीविकोपार्जन करते हैं। उनसे बड़ी बहन मंजू गुप्ता का काफी पहले विवाह हो चुका है। वह हरिद्वार में अपने पति के साथ जीवन यापन करती है। वहीं पर सोनू की छोटी बहन अंजू भी रहती है। सोनू के छोटे भाई अजय कुमार गुप्ता और विजय कुमार गुप्ता भी जीविकोपार्जन के लिए क्रमशः भिलाई और ऋषिकेश में रहते हैं। सभी की शादी हो चुकी है। सोनू के पिता परमानंद गुप्ता ने बताया कि सोनू बचपन से ही विलक्षण प्रतिभा का धनी था। उसने महंत राधा कृष्ण इंटर कॉलेज से हाई स्कूल तक की पढ़ाई की। इंटर में पढ़ना चाहता था, लेकिन घर के हालात के कारण उसे बाहर जाकर कमाने के लिए मजबूर होना पड़ा। इस समय वह रायपुर में एक्वा गार्ड कंपनी में फीटर के पद पर नियुक्त है। सोनू का विवाह आठ वर्ष पूर्व अनीता गुप्ता से हुआ। उनका छह वर्ष का एक बेटा संजीव भी है।
------------------

सितंबर में जन्म और इसी माह मिली सफलता
30 वर्षीय सोनू का जन्म सितंबर माह में ही हुआ था। संयोग से इसी माह में ही केबीसी की हॉट सीट पर बैठने का अवसर भी प्राप्त हुआ। पढ़ाई छोड़कर 10 वर्ष पूर्व सोनू रायपुर जीविकोपार्जन के लिए गया। वहीं काम के दौरान ही उसे कौन बनेगा करोड़पति में शामिल होने की ललक जागी। इसके बाद से वह लगातार इस प्रोग्राम में शामिल होने के लिए तैयारी करने लगा। सोनू ने अमर उजाला से दूरभाष पर हुई बातचीत में बताया कि जब से मन में प्रोग्राम में जाने की लालसा जगी, तब से वह ड्यूटी के साथ ही सामान्य ज्ञान की पुस्तकों का अध्ययन करने लगा। इस दौरान उसने विभिन्न प्रकार के समाचार पत्रों का अध्ययन करने के साथ ही उनकी कटिंग रखनी भी शुरू की। सोनू ने बताया ‌कि लगातार सात वर्षों के कठिन परिश्रम के बाद उसे इस वर्ष केबीसी के 12वें सीजन पर सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के साथ हॉट सीट पर बैठने का अवसर प्राप्त हुआ।
--------------------


एसी हाल में भी पसीने-पसीने था
सदी के महानायक से मिलने का अपना अनुभव साझा करते हुए सोनू ने कहा, कभी नहीं सोचा था कि जिसे फिल्मी परदे पर देखता आ रहा हूं, उससे यूं सामना होगा। उन्होंने कहा कि सामने अमिताभ जी थे तो सही बोलूं तो एसी हाल में भी पसीना-पसीना हो रहा था। हालांकि अमिताभ ने बेहद शालीनता से बात की और कभी नर्वस नहीं होने दिया।
------------------

परिवार के पास है दस कट्ठा जमीन
सोनू के पिता परमानंद गुप्ता लखीमपुर खीरी में कृषि फॉर्म में परिचारक थे। बाद में पदोन्ति प्राप्त करते हुए अकाउंटेंट के पद तक पहुंचे। वर्ष 1989 में उन्होंने सेवानिवृत्ति प्राप्त की। वन विभाग में सेवा के दौरान उन्हें कार्यकुशलता व क्षमता के आधार पर कई पुरस्कारों से भी नवाजा गया। माता शकुंतला देवी गृहणी हैं। उन्होंने बताया कि पति की आर्थिक स्थिति को संभालने के लिए वह भी कुछ कार्य कर लेती थीं, जिससे परिवार का जीविकोपार्जन चलता था। वर्तमान समय में उनका परिवार अपने गांव में एक छोटी से मकान में रहता है। इनके पास दस कट्ठा जमीन है जिसमें खेती कर परिवार का खर्च चलाते हैं। बेटे भी समय-समय पर कुछ पैसे भेज देते हैं जिससे दोनों वृद्धों का काम चल जाता है।





रिपोर्ट- धीरज सिंह

No comments