Breaking News

दीवाने हुए दीवान को एसपी ने कर दिया निलंबित



बलिया । थाना क्षेत्र के एक गांव की महिला पर दीवाने हुए थाने के दीवान को रंगरेलिया मनाते वक्त मंगलवार की रात ग्रामीणों ने रंगे हाथ पकड़ लिया। उन्होंने पुलिस अधिकारियों के साथ ही मामले की जानकारी 100 नंबर पर दी। अधिकारियों के निर्देश पर पहुंचे दरोगा ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि दीवान को हटा दिया जाएगा। इसके बाद उसे थाना ले आए। इस बीच मामले की जानकारी पाकर एसपी देवेंद्रनाथ बुधवार को सुबह थाना पहुंचे। लेकिन उन्हें पूरी जानकारी देने की बजाय दीवान को बचा लिया गया। जब इसकी भनक ग्रामीणों को लगी तो उन्होंने मंगलवार रात के घटनाक्रम का वीडियो वायरल कर दिया। वीडियो वायरल होते ही पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। अमर उजाला ने इस प्रकरण को बृहस्पतिवार के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित ‌किया तो मामले का संज्ञान लेते पुलिस अधीक्षक ने दीवान को तत्काल निलंबित करने का ‌आदेश जारी किया।
बताया जा रहा है कि संब‌ंधित महिला का पति बाहर नौकरी करता है। एक छोटी बच्ची के साथ महिला पर घर पर ही रहती है। गांव के लोगों के अनुसार कुछ दिन पहले मोबाईल चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए वह थाना पहुंची तो वहां दीवान जी से उसकी नजरें चार हो गईं। दीवान जी ने उसका मोबाइल वापस दिलवाने में काफी मदद की। इस दौरान दोनों में प्रेम इतना गहरा हो गया कि दीवान अपनी बाइक से रोज शाम को उसके घर पहुंचने लगे। एक-दो दिन तो लोगों ने ध्यान नहीं दिया, लेकिन जब दीवान की बाइक रोज गांव में पहुंचने लगी तो गांव वालों को इनके संबंधों पर शक हुआ। गांव के लोगों ने बताया कि बाइक के नंबर के आधार पर ट्रेस किया गया तो बाइक मऊ जनपद में रजिस्टर्ड होने का मैसेज आया। इसके बाद गांव वालों ने महिला से पूछताछ की तो उसने बताया कि ये मेरे रिश्तेदार हैं। लेकिन बाइक के रजिस्ट्रेशन नंबर में आए नाम से दोनों की जाति होने पर लोगों को शक हो गया। तब गांव वालों ने पड़ताल की तो उन्हें पता चल गया कि गांव में आना वाला व्यक्ति थाने पर तैनात है। इसके बाद उन लोगों ने दोनों को रंगेहाथ पकड़ने का प्लान बनाया और मंगलवार को दीवान जैसे ही महिला के घर में घुसे तो पहले से ताक में लगे लोगों ने दोनों को आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया। इसके बाद गांव के लोगों ने बाहर से दरवाजा बंद कर दिया और पुलिस को 112 नंबर पर सूचना दी।
-------------------

दीवान को पीटने और बाइक फूंकने की थी तैयारी
गांव के लोगों और पुलिस सूत्रों के अनुसार दीवान जी के पकड़े जाने के बाद गांव में माहौल काफी बिगड़ गया था। गांव के लोग लाठी डंडा लिए हुए थे और काफी नाराज थे। वे किसी भी हाल में दीवान को पीटने पर अमादा थे। गांव के युवाओं ने पेट्रोल आदि की व्यवस्था भी कर ली थी और वे दीवान की बाइक को फूंकने जा रहे थे। तब गांव के बुजुर्गों ने उन्हें समझाकर रोका, तब तक पुलिस पहुंच गई और बाइक को गांव से हटा दिया गया। ‌इसके बाद किसी तरह दीवान को किसी तरह गांव से निकालकर थाने लाया गया।
-------------------

मामले की जानकारी है। दीवान को गांव के लोगों से बचाकर लाने के बाद पुलिस अधीक्षक को जानकारी दी गई थी। उनके निर्देश पर दीवान को निलंबित कर दिया गया है।
दीपचंद, क्षेत्राधिकारी, बांसडीह



रिपोर्ट : धीरज सिंह

No comments