Breaking News

74 वर्ष पुराने दशहरा मेला पर कोरोना का साया



रेवती (बलिया) नगर में शारदीय नवरात्रि के अवसर पर लगने वाले 74 वर्ष पुराने चार दिवसीय दशहरा मेला पर कोरोना का साया से पूजा समिति के सदस्यों व मूर्तिकारों में मायूसी छायी हुई है । 

प्रदेश सरकार द्वारा त्योहारों को लेकर जारी गाईड लाईन के बावजूद स्थानीय थाना स्तर पर कोई दिशा निर्देश नही मिलने पर पूजा कमेटियों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है । रेवती पानी टंकी के पास सन 1996/97 से 13 वर्ष की अवस्था से मां दुर्गे व व अन्य देवी देवताओं की प्रतिमा बनाने वाले मूर्तिकार नवल किशोर शर्मा ने बताया कि दो महिने के लिए 25 से 30 हजार रूपये पर 14 लेबर रखकर मूर्तियों का निर्माण कार्य करा रहा हूँ । लगभग दो दर्जन से अधिक मूर्तियों की मांग होती है । यदि जल्द कोई निर्णय नहीं लिया गया  तो लाखों का नुकसान के साथ भुखमरी का सामना करना पड़ सकता है । नगर बड़ी बाजार मठिया पूजा पंडाल कमेटी के अध्यक्ष टी एन उपाध्याय ने बताया कि 17 अक्तूबर से नवरात्र प्रारंभ हो रहा है । अभी तक इस संबंध में थाना में होने वाली पीस कमेटी की बैठक के संबंध में कोई सूचना नहीं मिली है । यदि सरकार के तय मानक के अनुसार नगर में मां दुर्गा की प्रतिमाएं स्थापित करने की अनुमति नहीं मिली तो मेला न लगने पर सैकड़ों दूकानदार भुखमरी के शिकार हो सकते हैं ।


पुनीत केशरी

No comments