Breaking News

> > >

योगी सरकार का आदेश,यूपी में 23 नवंबर को खुलेंगे विश्वविद्यालय और कालेज

 





लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार ने प्रदेश के विश्वविद्यालय को खोलने का फैसला किया है। यूपी में 23 नवंबर से सभी प्राइवेट एवं सरकारी विश्वविद्यालय खोले जाएंगे। प्रदेश सरकार के अपर मुख्य सचिव ने प्रदेश के सभी जिलों के जिलाधिकारियों, उच्च शिक्षा निदेशक, प्रयागराज, सभी राज्य व निजी विश्वविद्यालयों के कुलसचिव को पत्र लिखकर ये आदेश जारी किया है।

मुख्‍यसचिव द्वारा मंगलावार को जारी किए गए इस आदेश के अनुसार विवि की कक्षाओं में अधिकतम 50 प्रतिशत ही स्‍टूडेन्‍ट की उपस्थिति रहेगी। इसके साथ ही विवि और कॉलेज स्टॉफ को कोरोना प्रोटोकॉल का सख्‍ती से पालन करने का आदेश जारी किया गया है। प्रदेश सरकार ने सभी स्‍टूडेन्‍ट्स को फेस कवर/मास्क पहनना और सोशल डिस्‍टेसिंग समेत अन्‍य उपाय करने का आग्रह किया है। यूपी में मार्च माह के बाद से सभी स्‍कूल कालेज ऑनलाइन क्‍लास ही करवा रहे हैं अब इस आदेश के बाद प्रदेश के सभी कालेज और विवि खुल जाएंगे।

विवि और कालेंजों में छात्रों को इन बातों का रखना होगा ध्यान। मोबाइल में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करना होगा। छात्रों को ऐसी गतिविधियां विकसित करनी चाहिए जो प्रतिरक्षा बढ़ाने में उपयोगी हों। इनमें व्यायाम, योग, ताजे फल खाना, स्वस्थ्य भोजन और समय से सोना शामिल है। छात्रों को शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ्य रहना चाहिए। स्‍टूडेन्‍ट को कोविड- 19 महामारी के मद्देनजर स्वास्थ्य एवं सुरक्षा उपायों के संबंध में विवि और महाविद्यालयों द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा।

बता दें यूपी की योगी सरकार की कोरोना संक्रमण से बचाव की रणनीति की विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) की सराहना की है। डब्लूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना पीड़ित मरीजों के संपर्क में आए 93 प्रतिशत लोगों की कांटेक्ट ट्रेसिंग कर कोरोना की रफ्तार पर रोक लगाई। मंगलवार को योगी सरकार की तारीफ करते हुए डब्लूएचओ ने सरकार की पीठ थपथपाई है.

रिपोर्ट के अनुसार यूपी में कोरोना के 474054 सक्रिय केस हैं। देश की जनसंख्या के हिसाब से सबसे बड़ा प्रदेश होने के बावजूद कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए यूपी सरकार ने जो कदम उठाए हैं उसे अन्‍य सरकारों को भी फालो करना चाहिए। आपको बता दें कुछ माह पहले प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत अन्‍य जिलों में कोरोना का भयंकर प्रकोप था।


डेस्क

No comments