Breaking News

> > >

जो बाइडेन होंगे अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति

 




नई दिल्ली। अमेरिका में हुए राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन की बड़ी जीत हुई है। करीब 4 दिनों तक चली वोटों की गिनती के बाद उन्होंने बहुमत के 270 इलेक्टोरल वोट के आंकड़े को पार कर लिया है। बता दें कि जो बाइडेन अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति को तौर पर शपथ लेंगे। दि एसोसिएट प्रेस के मुताबिक जॉर्जिया में बड़ी जीत दर्ज करने के बाद जो बाइडेन को 284 इलेक्टोरल वोट मिल गए जिसके बाद व्हाइट हाउस जाने का उनका रास्ता साफ हो गया। वहीं, रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार और वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सिर्फ 214 इलेक्टोरल वोट ही जुटा पाए। हालांकि ट्रंप ने अभी भी अपनी हार स्वीकार नहीं की है, जॉर्जिया के नतीजे आन के बाद उन्होंने दावा करते हुए ट्वीट किया, 'मैं चुनाव जीत गया।'

दि एसोसिएट प्रेस के अनुसार अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में कुल वोटों में से 50.6 फीसदी वोट शेयर जो बाइडेन का रहा, जबकि डोनाल्ड ट्रंप को सिर्फ 47.7 प्रतिशत वोट मिले। जो बाइडेन को मिले वोटों की संख्या की बात करें तो उन्हें 7,48,47,834 वोट मिले वहीं, डोनाल्ड ट्रंप को 7,05,91,531 वोट प्राप्त हुए। बाइडेन और ट्रंप के बीच जीत का अंतर सिर्फ 4256303 वोट रहा। अमेरिका की जनता ने डोनाल्ड ट्रंप सरकार को सिरे से खारिज करते हुए डेमोक्रेट नेता और पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडेन को यूएस का अगला राष्ट्रपति चुना है। बता दें कि जॉर्जिया में वोटों की गिनती को शुक्रवार तक पूरा कर लिया गया था लेकिन जीत का मार्जिन बहुत कम होने की वजह से वहां फिर से मतगणना की गई।

77 साल के जो बाइडेन का जन्‍म 20 नवंबर 1942 को अमेरिका के पेंसिलवेनिया में हुआ था। वह अमेरिका के 47वें उप-राष्‍ट्रपति रहे हैं। साल 2009 से लेकर 2017 तक उन्‍होंने ओबामा प्रशासन में उप-राष्‍ट्रपति का पद संभाला है। इससे पहले वह डेलावेयर से सन् 1973 से 2009 तक अमेरिका के सीनेटर रहे हैं। सन् 1970 में जब बाइडेन न्‍यू कैसेल काउंटी से काउंसिलर चुने गए तो वह उनकी उम्र बस 28 साल थी। वह सन् 1972 में देश के इतिहास में सबसे कम उम्र के छठें सीनेटर बने थे। लेकिन अब वह देश के सबसे बूढ़े राष्‍ट्रपति भी बन गए हैं।



डेस्क

No comments