Breaking News

> > >

शिक्षा के साथ संस्कार एवं नैतिकता भी आवश्यक: आनंद स्वरूप शुक्ल


दुबहड़,बलिया । छात्र छात्राओं के लिए शिक्षा के साथ-साथ संस्कार एवं नैतिकता भी आवश्यक है। इसके लिए हमें सनातन धर्मी मानव बनना पड़ेगा। उक्त उद्गार संसदीय कार्य एवं ग्राम्य विकास मंत्री आनंदस्वरूप शुक्ल ने मंगलवार को शिक्षा क्षेत्र दुबहड़ के घोड़हरा स्थित सम्मिलित पूर्व माध्यमिक विद्यालय पर मंगलवार को छात्र छात्राओं को निःशुल्क ड्रेस एवं पुस्तक आदि का वितरण करते हुए व्यक्त किया। कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों में शिक्षा व्यवस्था छिन्न-भिन्न हो गई थी। भाजपा सरकार द्वारा विद्यालयों में आधारभूत, मूलभूत संरचना एवं स्वच्छ वातावरण पैदा करने के कारण अध्ययन एवं अध्यापन में काफी बेहतर सुधार हुआ है। हमारे उत्तर प्रदेश के सरकारी विद्यालयों के बच्चों द्वारा बेहतर प्रदर्शन करने के कारण उच्च शिक्षण संस्थानों में भी उनका दाखिला मिल रहा है। अध्यापकों द्वारा गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के कारण मानवीय मूल्यों एवं राष्ट्र के पुनर्निर्माण में बेहतर प्रगति हो रही है। उन्होंने अध्यापकों से निवेदन किया कि वे ऐसे छात्र छात्राओं का निर्माण करें जो अपने मन एवं वाणी से राष्ट्र की सच्ची सेवा कर सके। सर्वप्रथम श्री शुक्ल ने मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्वलित कर पुष्पांजलि अर्पित किया। विद्यालय के बच्चों ने स्वागत गीत गाकर उनका अभिनंदन किया। विद्यालय की अध्यापक एवं अध्यापिकाओं ने उन्हें स्मृति चिन्ह भेंट किया।

 इस अवसर पर महेशानंद गिरी, छोटेलाल तिवारी, प्रेमप्रकाश सिंह पिंटू, डिंपल सिंह, पप्पू सिंह, अक्षय कुमार सिंह, अंशुमान गिरी, मोतीचंद चौरसिया, ओमप्रकाश दुबे, विद्यासागर गुप्ता, चंद्रगुप्त, शीला सिंह, जितेंद्र सिंह, अनिल पांडेय, अजीत पांडेय, प्रमोद पांडेय, डॉ हरेंद्रनाथ यादव, रामानंद पांडेय, रविंद्रनाथ राय आदि उपस्थित रहे।अध्यक्षता अरूण कुमार पांडेय संचालन डॉ अब्दुल अव्वल एवं आभार प्रकट प्रधानाध्यापक शशिकांत पांडेय ने किया।


निःशुल्क ड्रेस एवं पुस्तक का वितरण 

दुबहड़। क्षेत्र के सम्मिलित पूर्व माध्यमिक विद्यालय घोड़हरा में निःशुल्क ड्रेस एवं पुस्तक का वितरण करते समय संसदीय कार्य एवं ग्राम्य विकास मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला सहित उपस्थित लोगों ने विगत दिनों गंगा स्नान करते समय डूब गए घोड़हरा निवासी सोनू यादव, दीपेंद्र सिंह, अभिषेक पासवान एवं माधवजी सिंह के मां, हरेराम सिंह एवं सड़क दुर्घटना में निधन हुए शिक्षक उपेंद्र तिवारी, ओझा कछुआ मिल्की निवासी वरिष्ठ पत्रकार एवं पूर्व जिला पंचायत सदस्य पशुपतिनाथ सिंह के निधन पर दो मिनट का मौन रखकर गतात्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की गई एवं उनके घर जाकर शोक संवेदना प्रकट करते हुए परिजनों को ढाढस बंधाया एवं हर प्रकार का सहयोग करने का आश्वासन दिया।


रिपोर्ट:-नितेश पाठक

No comments