Breaking News

> > >

धान क्रय केंद्र स्थापित करने को छिपाया था तथ्य, अब जिलाधिकारी ने किया निरस्त



- *एजेंसी रामदहिन फारमर प्रोड्यूसर कम्पनी के चौहद्दी में ही थी राइस मिल*


- *कोई बैनर नहीं, खरीद शुरू होने के 35 दिन बाद भी कोई खरीद नहीं हुई थी*


बलिया: खाद्य विभाग से सम्बद्ध बाबा रामदहिन फार्मर प्रोड्यूसर कम्पनी लि (एफपीसी) दौलतपुर पर बने धान क्रय केन्द्र को भी जिलाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया है। एसडीम सदर के नेतृत्व में तीन सदस्यीय जांच टीम के द्वारा की गई जांच में तमाम खामियां मिलने पर यह कार्रवाई हुई।


जांच में यह पाया गया कि बाबा रामदहिन फारमर प्रोड्यूसर कम्पनी लिमिटेड के निदेशक राजेश कुमार सिंह ने क्रय केन्द्र स्थापित करने के लिए जो चौहद्दी उपलब्ध कराई है, उसी चौहद्दी में मेसर्स माँ अम्बे राईस मिल, ईटही दौलतपुर भी संचालित है। लेकिन, क्रय केन्द्र का प्रस्ताव देते समय राजेश सिंह ने इस तथ्य को छिपाया, जो कि धान क्रय में शुचिता व पारदर्शिता के लिहाज से उचित नहीं है। ऐसे में मिल मालिक/कम्पनी निदेशक व क्रय केन्द्र प्रभारी के आपस में सांठगांठ कर मूल्य समर्थन योजना का अनुचित लाभ प्राप्त करने की प्रबल सम्भावना है। जांच के दौरान क्रय केन्द्र पर बैनर भी नहीं था। खरीद शुरू होने के लगभग 35 दिन बाद भी केन्द्र पर धान क्रय का कार्य शुरू भी नहीं हुआ था, जबकि केन्द्रों पर धान की आवक भी है। 


ऐसे में सुसंगत तथ्यों को छिपाने, बैनर प्रदर्शित नहीं करने तथा क्रय अवधि के 35 दिन बीतने के बाद भी खरीद शुरू नहीं करने, धान क्रय जैसी शासन की शीर्ष प्राथमिकता वाली योजना को प्रभावित करने के लिए खाद्य विभाग से सम्बद्ध बाबा रामदहिन फार्मर प्रोड्यूसर कम्पनी लि. के निदेशक राजेश कुमार सिंह दोषी हैं। जांच समिति की रिपोर्ट मिलने के बाद जिलाधिकारी ने इस क्रय केंद्र को तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया।



रिपोर्ट धीरज सिंह

No comments