Breaking News

> > >

गोवंश तस्करी में कांस्टेबल की गिरफ्तारी के बाद उभावं थाने के पांच ‌पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

 


बलिया। उभांव थाने पर तैनात सिपाही दीपनारायण पासवान को गोवंश की तस्करी के मामले में देवरिया जिले के मईल थाना पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी देवेंद्रनाथ ने मंगलवार को उभावं थाने पर तैनात मुख्य आरक्षी रामाश्रय, कांस्टेबल दीनानाथ यादव, गांधी यादव, रणजीत यादव और हरिवंश साहनी को भी ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में लाइन हाजिर कर दिया। हालांकि जब मामले में पुलिस अधीक्षक से बात की गई तो उन्होंने कहा कि इन्हें लाइनहाजिर कर पुलिस लाइंस में स्पेशल ड्यूटी पर बुलाया गया है।


उभांव थाने के सिपाही को गोवंश तस्करी के मामले में मईल थाना पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसके बाद उभांव थाना के कई अन्य कर्मचारी भी संदेह के घेरे में आ गए। लगभग एक माह पूर्व भी दीपनारायण व कई अन्य कर्मचारी पशुओं से लदे ट्रक को मोटी रकम लेकर छोड़ेने के मामले में संदेह के दायरे में आए थे। पुलिस सूत्रों के अनुसार सोमवार को जिले की सीमा से गोवंश लदे ट्रकों के देवरिया की सीमा में प्रवेश कर जाने के मामले की एसपी ने अपने स्तर से जांच कराई। इसके बाद उन्होंने कार्य में लापरवाही के आरोप में उभावं थाने के मुख्य आरक्षी रामाश्रय, कांस्टे‌बल हरिवंश साहनी, गांधी यादव, दीनानाथ यादव, रणजीत यादव को लाइन हाजिर कर दिया।


पुलिस सूत्रों की मानें तो सोमवार को गोवंश से लदे ट्रक बलिया जिले की सीमा से ही देवरिया में प्रवेश किए थे। ट्रक जिस रास्ते से गुजरे थे वह उभावं थाने के सामने से होकर निकलती है, इसके बावजूद थाना पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। यही नहीं तुर्तीपार-भागलपुर पुल पर चढ़ने से पहले भी दोनों ट्रकों ने तुर्तीपार चेक पोस्ट पार किया, लेकिन वहां भी उन्हें नहीं पकड़ा गया। इसे गंभीरता से लेते हुए एसपी ने यह कार्रवाई की है। मामले को लेकर जब पुलिस अधीक्षक देवेंद्रनाथ से बात की गई तो उन्होंने कहा कि जिले में कई थानों पर तैनात सिपाहियों को पुलिस लाइंस में बुलाया गया है। इस दौरान इन्हें कई अन्य कार्यों का प्रशिक्षण आदि दिया जाएगा।



रिपोर्ट : धीरज सिंह



No comments