Breaking News

रामनगर की माँ बेटी के हत्या का पर्दाफाश, जानें कौन है हत्यारा


बलिया : पुलिस अधीक्षक बलिया डॉ0 विपिन ताडा द्वारा अपराध एवं अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम में दोकटी थाना क्षेत्र के रामनगर गांव में 16 दिसंबर को एक कमरे में मां मीरा देवी व इसकी विवाहिता बेटी गुड़िया का शव मिला था। उसे समय तरह-तरह के कयास लगाते जा रहे थे। यह दोनों एक सप्ताह पूर्व ही गुजरात से आए हुए थे। इस घटना के पर्दाफाश के लिए पुलिस अधीक्षक विपिन ताडा ने दोकटी थाना इंचार्ज अमित सिंह, एसओजी टीम के राजकुमार सिंह, संजय सरोज व श्याम सुंदर सिंह यादव को लगाया था। पुलिस की छानबीन में यह मामला हत्या का निकला। सर्विलांस के सहारे पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी। पुलिस के काफी प्रयास के बाद नित्यानन्द कुशवाहा का लोकेशन मिला। पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि घटना को अंजाम देने वाले आरोपित सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने के लिए आया हुआ है। इस पर पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस लाइन के सभागार में इसका खुलासा करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने बताया कि मां-बेटी गुजरात में रहती थीं। वहां पर नित्यानंद का विवाहिता गुड़िया से संबंध हो गया। कुछ दिनों बाद इसकी बड़ी बहन की बेटी से भी नित्यानंद को प्रेम हो गया। इसको लेकर दोनों के बीच विवाद भी हुआ। इसके बाद मां-बेटी गांव चली आईं। इसी बीच प्रेमी कई बार इससे मोबाइल से बात किया। इसके बाद वहां से आकर प्रेमिका के घर आ गया। रात को दोनों के बीच विवाद होने पर कंबल से मुंह दबाकर गुडिया को मौत के घाट उतार दिया। इसकी मां के हो हल्ला करने पर उसका भी मुंह दबा कर मार डाला। इसके बाद फरार हो गया। घर में किस अन्य व्यक्ति के नहीं होने से इसकी भनक नहीं लग पाई। इन दोनों का मोबाइल फोन नहीं उठने पर बगल के गांव के रिश्तेदार पहुंचे तो दोनों मृत पाई गईं।

रिपोर्ट : धीरज सिंह

No comments