Breaking News

> > >

कोरोना के डर से दूल्हे ने दुल्हन से बनाई सोशल डिस्टेंसिंग, मामला पहुंचा कोर्ट तो साबित करनी पड़ीं मर्दानगी

 




भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में अजीब मामला सामने आया है। यहां पर लाॅकडाउन में शादी होने के बाद दूल्हे ने दुल्हन से ही सोशल डिस्टेंसिंग बना ली, जिससे मामला कोर्ट तक पहुंच गया और फिर पति को मर्दानगी साबित करनी पड़ी है। भोपाल लॉ ट्रिब्यूनल (विधिक प्राधिकरण) में दो दिसम्बर को महिला की ओर से दिए गए आवेदन में बताया गया है कि उसकी शादी 29 जून को लॉकडाउन में हुई थी। शादी से पहले पति फोन पर तो अच्छी अच्छी बातें किया करते थे, मगर शादी होने के बाद पास नहीं आता था। जिससे जीवन भर का रिश्ता जोड़ा वो पास भी नहीं आने पर नई नवेली दुल्हन रूठकर अपने मायके चली गई। फिर उसके परिजनों ने पति से बात की तो उसने उन्हें भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया। इसके बाद से दोनों के बीच विवाद बढ़ता गया।

आवेदन में युवती ने ससुराल वालों पर भी तंग परेशान करने का आरोप लगाया है। साथ ही उसने भरण पोषण की भी मांग की है। मामले में उनकी काउंसलिंग की गई तो पता चला कि कोरोना वायरस के डर की वजह से पति ने दांम्पत्य दायित्वों को नहीं निभाया। इस पर पत्नी ने उसकी मर्दानगी पर सवाल उठा दिया। पत्नी को मनाने के लिए पति को मेडिकल टेस्ट कराके पुरुषत्व का प्रमाण देना पड़। मेडिकल टेस्ट में वह फिट पाया गया है। मामले में समझौता होने के बाद शुक्रवार को महिला अपने पति के साथ ससुराल चली गई। काउंसलर ने महिला को हिदायत दी कि वह पति पर आगे से किसी प्रकार के झूठे आरोप नहीं लगाए। वहीं, दोनों को कोरोना टेस्ट करवाकर समस्या के निदान की सलाह दी।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव संदीप शर्मा ने बताया कि महिला ने पति पर झूठे आरोप लगाए थे कि वह दांम्पत्य संबंध निभाने योग्य नहीं है। काउंसलिंग के दौरान खुलासा हुआ कि पति को कोरोना फोबिया था, जिसकी वजह से वह पत्नी से भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहा था। काउंसलर को पति ने बताया था कि शादी के बाद ही पत्नी के परिवार वाले पॉजिटिव हो गए थे। इसलिए वह पत्नी के सोशल डिस्टेंसिंग की पालना कर रहा था।

डेस्क

No comments