Breaking News

दांत का उपचार कराने क्लीनिक गई महिला को नसीब हुई मौत, पति ने लगाई न्याय की गुहार



 बेल्थरारोड, बलिया। चट्टी चौराहों एवं बाजारों में स्वास्थ्य विभाग के अनुमति के बगैर क्लीनिक व नर्सिंग होम खोलकर बैठे चिकित्सक सीधे सादे लोगों के लिए जानलेवा साबित हो रहे है। ऐसी ही एक घटना नगरा बाजार स्थित क्लीनिक पर सामने आई है। जहां एक महिला का चिकित्सक ने दांत उखाड़ दिया और तीसरे दिन महिला की मौत हो गई। महिला के पति ने चिकित्सक को दोषी मानते हुए पुलिस के आला अफसरों को पत्र भेजकर कार्यवाही की मांग की है। वहीं एक सामाजिक कार्यकर्ता के ट्वीट पर नगरा पुलिस जांच पड़ताल में जुट गई है।

            

पकड़ी थाना क्षेत्र के एकइल निवासी राजेश शर्मा ने अपर पुलिस महानिदेशक वाराणसी, पुलिस उप महानिरीक्षक आजमगढ़ व एसपी बलिया के साथ थानाध्यक्ष नगरा को शिकायती पत्र दिया है कि मेरी पत्नी 38 वर्षीय सीमा शर्मा 17 दिसम्बर को नगरा बाजार स्थित मां शारदा क्लीनिक पर दांत दिखाने के लिए आई थी। क्लीनिक पर मौजूद चिकित्सक ने  पत्नी का दांत उखाड़ने के बाद दवा देकर घर भेज दिया। पत्नी के घर पहुंचने के कुछ देर बाद तवियत बिगड़ने लगी तो मै पत्नी को लेकर रात में ही उसी डाक्टर के पास आया। फिर डाक्टर ने तीन इंजेक्शन लगाने के बाद घर जाने के लिए कह दिया। पत्नी को लेकर घर गया लेकिन स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ। मैं 18 दिसम्बर को सुबह पत्नी को उसी डाक्टर के पास लेकर आया तो डाक्टर ने मऊ ले जाने का सलाह दिया। पत्नी को लेकर मऊ गया तो मऊ के डाक्टर ने स्थिति गम्भीर देख इलाज से इनकार कर दिया। प्रार्थी आजमगढ़ जिले की वेदांता निजी अस्पताल में ले गया। वहां भी चिकित्सक ने जवाब दे दिया। मैं पत्नी को लेकर घर आ रहा था कि रास्ते में ही दम तोड़ दी।



 पीड़ित ने नगरा बाजार स्थित मां शारदा क्लीनिक के चिकित्सक पर आरोप लगाया है कि डॉक्टर के गलत उपचार के वजह से पत्नी की मौत हो गई। इधर सामाजिक कार्यकर्ता ने पीड़ित की तहरीर एडीजी वाराणसी को ट्वीट कर दिया। एडीजी के निर्देश पर पकड़ी पुलिस पीड़ित के घर जाकर  पूछताछ की वहीं नगरा थानाध्यक्ष विवेक पांडेय पीड़ित को बुलाकर मामले की जानकारी ली। थानाध्यक्ष विवेक पांडेय ने बताया कि चिकित्सक के खिलाफ शिकायती पत्र मिला है। जांच की जा रही है। अस्पताल दोषी पाया गया तो कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

                                  



रिपोर्ट @संतोष द्विवेदी

No comments