Breaking News

> > >

त्योहारों पर भी शिक्षा मित्रों की जेब रहती है खाली : पंकज सिंह


बलिया। शासन से मानदेय का बजट जारी न होने के कारण शिक्षा मित्रों को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है। दिसंबर माह खत्म होने जा रहा है, लेकिन अभी तक नवम्बर का मानदेय नहीं मिला। शिक्षा मित्रों के साथ अक्सर ऐसा होता है। होली-दीपावली-ईद जैसे त्योहारों पर कभी-कभी ही उन्हें पगार मिल पाती है। वर्तमान समय में स्कूलों में बच्चों की पढ़ाई बंद है, इसके बावजूद अधिकारियों के निर्देश पर शिक्षा मित्र प्रतिदिन विद्यालय जा रहे हैं। 

उतर प्रदेश प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ बलिया के जिला प्रभारी पंकज सिंह ने कहा कि एक तरफ शिक्षा मित्रों को विद्यालय बुलाया जा रहा है। पूरा समय स्कूल में देने के कारण वे खेतीबारी या कोई अन्य काम भी नहीं कर सकते। दूसरी ओर प्रतिमाह मिलने वाला अल्प मानदेय भी समय से भुगतान नहीं किया जाता है। उन्होंने कहा कि उसी विद्यालय में कार्यरत शिक्षकों को हर महीने समय से वेतन मिल जाता है लेकिन शिक्षा मित्रों के लिए बजट ही नहीं रहता है। समय से मानदेय नहीं मिलने से शिक्षा मित्रों के लिए क्रिसमस और नये साल की खुशी भी सेआधी-अधूरी ही रहेगी। श्री सिंह ने कहा कि शिक्षा मित्रों के मानदेय को लेकर जिस प्रकार की उदासीनता बरती जा रही है उससे जाहिर होता  है कि सरकार व उनके उच्चाधिकारी भी शिक्षा मित्र के साथ सौतेला व्यवहार कर रहे हैं।


रिपोर्ट धीरज सिंह

No comments