Breaking News

> > >

11 माह से बन्द पड़े निजी विद्यालयों को खोले जाने को प्रबंधकों ने उत्तर प्रदेश के राज्यपाल व मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपी

 


मनियर (बलिया) 11 माह से बन्द पड़े निजी विद्यालयों को खोले जाने के सम्बन्ध में विद्यालय के प्रबंधकों ने उत्तर प्रदेश के राज्यपाल सहित मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन शुक्रवार को उपजिलाधिकारी बांसडीह को सौंपा।

अपने दिए गए ज्ञापन में दर्शाया है कि स्कूलों को खोले जाने के लिए की बार ज्ञापन देने के बाद भी विद्यालयों को खोले जानें की अनुमति सरकार द्वारा नहीं मिली। आज समाज को शिक्षित, सभ्य और आत्मनिर्भर बनाने वाला विद्यालय 11 माह से बन्दर पड़ा है। जिससे शिक्षक कर्मचारी व प्रबंधक भूखमरी के बोझ से दबकर मर रहे हैं। तथा विद्यालय के संचालन हेतू   किस्त पर खरीदें गए वाहन के किस्त नहीं जमा होने के कारण कम्पनी वाहन को जब्त करने में लगी है। बिजली के कनेक्शन काटे जा रहे हैं। किराए के विद्यालय खाली कराएं जा रहे हैं। किन्तु शासन द्वारा किसी भी प्रकार का सहयोग नहीं किया जा रहा है।  चेतावनी दी कि मजबुरन स्कूलों के शिक्षकों, कर्मचारियों का मानदेय बिजली बिलों का भुगतान, स्कूल वाहनों के लोन, बीमा, टैक्स व भवन किराया अदायगी के लिए आगामी 28 जनवरी को प्रत्येक जनपद में भिक्षाटन करने को बाध्य है।

ज्ञापन के माध्यम से बताया गया कि 26 जनवरी तक विद्यालयों के सहयोग देने के क्रम में शिघ्र हमारी मांगों को पूरा किया जाय। ज्ञापन देने वालों में प्रेम शंकर सिंह, संतोष कुमार उपाध्याय, संजय चौहान, पराशर मुनि पाल, राजेश सोनी, गायत्री देवी, हरिन्द्र प्रसाद, ओंमकार नाथ पाण्डेय, ईश्वर चन्द्र, बब्बन राय, सुरेन्द्र चौधरी, सिद्धार्थ चतुर्वेदी, आदित्य गुप्ता आदि रहे।



राममिलन तिवारी

No comments