Breaking News

> > >

सहायता प्राप्त जू.हा. स्कूलों की समस्याओं पर सरकार तथा विभाग सौतेला व्यवहार कर रही है: रवीन्द्र सिंह


रतसर,बलिया : सहायता प्राप्त जू.हा. स्कूलों के समस्याओं पर सरकार तथा विभाग सौतेला व्यवहार कर रही है। उक्त बातें शुक्रवार को उ०प्र० सीनियर बेसिक शिक्षक संघ की आयोजित बैठक में सहकारी बैंक के मिटींग हाल में शिक्षकों/कर्मचारी गणों को संबोधित करते हुए सीनियर बेसिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष रवीन्द्र सिंह ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में कही। उन्होंने सरकार की नीतियों पर रोष प्रकट करते हुए बताया कि जनपद में सहायता प्राप्त जू.हा.स्कूलों की संख्या 92 है। समाज के गरीब तथा कमजोर वर्ग के बच्चे पढ़ते है। सर्द मौसम में पढने वाले छात्रों को इस वर्ष यूनीफार्म की धनराशि उपलब्ध नही कराई गई। वैश्विक महामारी कोविड - 19 के संकट काल में इनकी आर्थिक स्थित पहले से भी ज्यादे भयावह है। परिषदीय विद्यालय के बच्चे भी इन्ही तबकों से आते है। विभाग उनके लिए यूनिफार्म, स्वेटर, जूता- मोजा आदि देती है, जबकि सहायता प्राप्त स्कूलों के बच्चों को केवल यूनीफार्म मिलता है। वह भी वर्तमान सत्र समाप्त होने के निकट है लेकिन धनराशि आवंटित नही हुई। इस प्रकार 15 जनवरी 2019 में सरकार ने विद्यालय में लिपिक तथा परिचारक का पद भी समाप्त कर दिया तथा शिक्षकों की संख्या मानक के अनुसार चार होती थी उसको भी घटाकर तीन कर दिया गया। जिसके कारण शिक्षा के गुणवत्ता पर भीअसर पड़ रहा है। शिक्षक/ कर्मचारियों की प्रोन्नति वेतनमान एवं एसीपी वर्षो तक आफिस में पड़ी रहती है। उसकी स्वीकृति में विभाग द्वारा भारी हीलाहवाली की जाती है। प्रधानाध्यापकों का प्रोन्नति वेतनमान पांच वर्ष से उपर हो गया है लेकिन उसके उपर विचार करना भी विभाग मुनासिब नही समझता है। वेतन भुगतान भी समय से नही होता है। पुरानी पेंशन जो एक बुढ़ापे की लाठी थी वह भी सरकार ने छीन लिया। इससे शिक्षक/ कर्मचारियों में भारी रोष व्याप्त है। अगर तत्काल हमारी मांगों पर सरकार तथा विभाग विचार नही करता है तो संगठन संघर्ष के लिए बाध्य होगा। इस अवसर पर संतोष पाण्डेय, अविनाश उपाध्याय, ओमप्रकाश यादव, श्री भोलानाथ सिंह, बीरेन्द्र सिंह, दिनेश चौधरी, सुबाष राम, अनिल उपाध्याय, कुलदीप ओझा, गिरीश उपाध्याय, दीपक कुमार सिंह, जय बहादुर सिंह, गीता शुक्ला, चन्द्रमुखी वर्मा, निर्भय शंकर राय, सरिता श्रीवास्तव आदि वक्ताओं ने भी अपने-अपने सुझाव दिए। कार्यक्रम की अध्यक्षता वीरेन्द्र सिंह एवं संचालन रवीन्द्र सिंह ने की।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments