Breaking News

> > >

जाने कहाँ जलेबी खाते ही छू मंतर हुआ शुगर

  



बलिया: अगर किसी को शुगर की बीमारी हो और आप इसे जलेबी खाने को कहें तो उसे लगेगा कि आप उसे मौत की ओर धकेल रहे हैं, लेकिन यह हकीकत है कि पकड़ी धाम स्थित मां काली मंदिर के दरबार में जलेबी खाने से कई लोगों शुगर का  रोग ठीक हो गया है, जो किसी चमत्कार से कम नहीं है. अगर आपको विश्वास ना हो तो स्वयं बिहार प्रांत के आरा जिला अंतर्गत धनौती पीरों भोजपुर निवासी दिवाकर मिश्रा पुत्र श्री विश्व नाथ मिश्रा की कहानी  सुन सकते हैं.



बकौल दिवाकर मिश्रा, जब मैं वर्ष 2020 के दिसंबर माह में महसूस हुआ कि उन्हें शुगर की बीमारी हो गई है तो उन्होंने 11 दिसंबर 2020 को इसका टेस्ट कराया, जिसमें खाली पेट उनके शुगर का लेवल 160 रहा.जबकि खाने के उपरांत जांच कराने पर शुगर का लेवल बढ़कर 251 हो गया था.जिसके बाद वो परेशान हो गए. इसी दौरान उनके एक मित्र ने पकड़ी धाम स्थित काली मंदिर जाने और वहां मां काली को जलेबी चढ़ाकर खाने की सलाह दी.


दिवाकर दिवाकर बिना समय गवाएं पकड़ी धाम स्थित काली मंदिर पहुंचे और मंदिर के पुजारी और मां काली के अनन्य उपासक रामबदन भगत से अपनी समस्या बताई. उनकी व्यथा सुन पुजारी ने पहले उन्हें  भरपेट जलेबी खाने  की बात कही  और  फिर मां का प्रसाद दिया. इसके बाद पुजारी रामबदन भगत ने कुछ औषधियाँ देते हुए उनके  नियमित सेवन की बात कही. दिवाकर बताते हैं कि इसके बाद मानों चमत्कार सा हुआ, जिस सुगर के निदान के लिए वह  तमाम डॉक्टरों के यहां चक्कर लगाए और निराश होकर लौट आए वह पकड़ी धाम स्थित मां काली के मंदिर में आते ही छूमंतर हो गया. 20 दिसंबर 2020 को उन्होंने पुनः शुगर की जांच कराई, जिसमें उनके शुगर का लेवल घटकर खाली पेट 115 और खाना खाने के बाद 145 हो गया था.



 

डेस्क


No comments