Breaking News

> > >

अमेरिका के सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति बने बाइडेन, कमला पहली महिला उपराष्ट्रपति


शपथ ग्रहण के लिए पहुंचे जो बाइडेन (सबसे दाएं), साथ में पत्नी जिल नजर आ रही हैं। कमला हैरिस पति डग एमहॉफ (सबसे बाएं) के साथ पहुंचीं।

शपथ ग्रहण के लिए पहुंचे जो बाइडेन (सबसे दाएं), साथ में पत्नी जिल नजर आ रही हैं। कमला हैरिस पति डग एमहॉफ (सबसे बाएं) के साथ पहुंचीं।


वाशिंगटन डीसी : जोसेफ आर बाइडेन जूनियर यानी जो बाइडेन बुधवार रात अमेरिकी इतिहास के सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति बन गए। वे 78 साल के हैं। कमला देवी हैरिस ने भी उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली। 56 साल की कमला हैरिस ने इसी के साथ इतिहास रच दिया। वे पहली महिला, अश्वेत और भारतवंशी उपराष्ट्रपति हैं।


कैपिटल हिल यानी अमेरिकी संसद परिसर में हुई इनॉगरल सेरेमनी में बाइडेन ने तय वक्त से 11 मिनट पहले शपथ ली। उन्होंने 128 साल पुरानी बाइबिल पर हाथ रखकर शपथ ली और अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बन गए। महज 14 दिन पहले कैपिटल हिल में हुई हिंसा का जिक्र भी बाइडेन के भाषण में होता रहा। उन्होंने 22 मिनट में 2381 शब्दों का भाषण दिया। 12 बार डेमोक्रेसी, 9 बार यूनिटी, 5 बार असहमति और 3 बार डर शब्द का इस्तेमाल किया।


बाइडेन ने कहा- अभी कुछ दिन पहले ही हिंसा के जरिए संसद की नींव हिलाने की कोशिश की गई थी। इन लोगों को लगा था कि वे वॉयलेंस के जरिए हमारी इच्छाशक्ति को साइलेंस कर देंगे, लोकतंत्र को रोक देंगे, हमें इस जमीन से खदेड़ देंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। ऐसा होगा भी नहीं। ऐसा न आज होगा, न कल होगा। कभी भी नहीं होगा।


राष्ट्रपति ने कहा- हो सकता है कि जब मैं एकता की बात करूं तो इन दिनों कुछ लोगों को यह मूर्खताभरी कल्पना लगे, लेकिन मैं जानता हूं कि हमें बांट रही ताकतें बहुत मजबूत हो गई हैं। एकता के बिना अमन नहीं आएगा। इसके बिना तरक्की नहीं होगी। हमने एक बार फिर सीखा है कि लोकतंत्र बेशकीमती है और नाजुक भी है, लेकिन लोकतंत्र यहां कायम है।

बाइडेन बोले- 108 साल पहले जब ऐसा ही शपथ समारोह हुआ था, तब हजारों प्रदर्शनकारियों ने राइट टू वोट की मांग कर रही बहादुर महिलाओं का रास्ता रोकने की कोशिश की थी। आज हम देख रहे हैं कि नेशनल ऑफिस के लिए एक महिला ने शपथ ली है। ये हैं उपराष्ट्रपति कमला हैरिस। 

PM मोदी ने बधाई दी

PM मोदी ने सोशल मीडिया पर लिखा कि अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में पदभार ग्रहण करने पर जो बाइडेन को मेरी ओर से हार्दिक बधाई। मैं भारत-अमेरिका के बीच रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के लिए आपके साथ काम करने का इंतजार कर रहा हूं। उन्होंने कमला हैरिस को भी बधाई दी।

तीन पूर्व राष्ट्रपति पहुंचे
बाइडेन के शपथ ग्रहण में आने वाले पूर्व राष्ट्रपतियों में बराक ओबामा पत्नी मिशेल के साथ सबसे पहले पहुंचे। उनके बाद बिल क्लिंटन पत्नी हिलेरी के साथ आए। कुछ ही देर बाद ही पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश पत्नी लारा बुश के साथ पहुंचे।

ट्रम्प ने इस समारोह में हिस्सा नहीं लिया। 151 साल में यह पहला मौका है, जब कोई प्रेसिडेंट नए राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण में शामिल नहीं हुआ। 


बाइडेन की शपथ से पहले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने फर्स्ट लेडी मेलानिया के साथ व्हाइट हाउस छोड़ दिया। जाते-जाते वे बाइडेन के लिए एक नोट भी छोड़ गए। उसमें क्या लिखा है, इसका तुरंत खुलासा नहीं हुआ। उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने भी नई वाइस प्रेसिडेंट कमला हैरिस के लिए नोट छोड़ा।


ट्रम्प हेलिकॉप्टर से एंड्रयूज एयरबेस पहुंचे। वहां से फ्लोरिडा के अपने रिजॉर्ट मार-ए-लेगो रवाना हो गए। एंड्रयूज एयरबेस पर ट्रम्प ने समर्थकों से कहा- हमने बहुत बेहतर तरीके से अमेरिका की सेवा की। आमतौर पर एक वैक्सीन डेवलप करने में 8-9 साल लग जाते हैं, लेकिन हम 9 महीने में वैक्सीन ले आए। मैं हमेशा अमेरिकी नागरिकों के लिए लड़ाई लड़ता रहूंगा। हम आपको प्यार करते हैं और किसी न किसी रूप में वापस लौटेंगे। हम जल्द आपसे मिलेंगे।'

ट्रम्प के 17 नए सांसद अब बाइडेन के साथ
ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी के 17 सांसदों ने बाइडेन को एक लेटर लिखा है। CNN के मुताबिक, ‘इस लेटर में इन नए सांसदों ने साफ लिखा है कि वे भविष्य में बाइडेन का साथ देंगे। अमेरिका को एक ही चीज जोड़ सकती है। और ये किसी भी चीज से बड़ी है। देश को फिर उसी भावना के साथ महान बनाना है।’

ऐसे बढ़ता गया राष्ट्रपति के पहले भाषणों का समय
1940 से 1980 के बीच औसतन 1,612 शब्दों का इस्तेमाल हुआ। 1980 से 2013 के बीच यह बढ़कर 2,120 शब्द हुए। 2013 में ओबामा का भाषण 20 मिनट का ही था। इस दौरान उन्होंने करीब दो हजार शब्द बोले थे। ट्रम्प ने 16 मिनट में 1,433 शब्द बोले थे। बाइडेन ने 22 मिनट में 2,381 शब्दों का भाषण दिया।

सबसे लंबा भाषण 1841 में हुआ
1793 में पहले राष्ट्रपति जॉर्ज वॉशिंगटन ने सिर्फ 135 शब्दों का भाषण दिया था। विलियम हेनरी हैरिसन ने 1841 में अपने भाषण में 1 घंटे 45 मिनट का वक्त लिया और 8445 शब्द बोले। भीषण ठंड में बिना हैट और कोट पहने भाषण देने पर हैरिसन को निमोनिया हो गया था और राष्ट्रपति बनने के एक महीने बाद ही उनका निधन हो गया।



डेस्क

No comments